IAS संजीव कुमार सिन्हा बने BSSC के नये अध्यक्ष

लाइव सिटीज डेस्क : BSSC को नया अध्यक्ष मिल गया है. IAS संजीव कुमार सिन्हा को  आयोग का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.  संजीव कुमार  1986 बैच के IAS अधिकारी हैं.  संजीव कुमार सिन्हा वर्तमान में बिहार मानवाधिकार आयोग के सचिव का पदभार भी संभाल रहे हैं. बता दें कि वे  बिहार एड्स कंट्रोल सोसाइटी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर भी  रह चुके हैं. बाद में उन्हें रेवेन्यु गोल्ड के सदस्य भी बनाया गया था. 

बता दें कि BSSC के परीक्षा प्रश्न पत्र वायरल होने के मामले में आयोग  के चेयरमैन IAS सुधीर कुमार, सचिव परमेश्वर राम की गिरफ्तारी से कार्यालय में कोई विकल्प नहीं बचा था .  इसके अलावा OSD सीके अनिल महीने भर से लापता चल रहे हैं. नतीजा BSSC कार्यालय में कामकाज ठप पड़ चुका था.  लेकिन अब  IAS संजीव कुमार सिन्हा को नया अध्यक्ष बनाये जाने से BSSC का काम काज अब नियमित रूप से चलने लगेगा.   

BSSC की परीक्षा में प्रश्न पत्र हुआ था वायरल,आयोग के अध्यक्ष IAS सुधीर, और सचिव परमेश्वर राम हुए गिरफ्तार 

 बता दें कि बीएसएससी की परीक्षा 5 फरवरी को होने वाली थी. परीक्षा के पहले ही व्हाट्सअप के माध्यम से ‘आंसर की’ सभी मोबाइल पर वायरल होने लगी. शाम होते-होते परीक्षा के पेपर लीक की खबर आग की तरह फ़ैल गयी. हालांकि आयोग के सचिव और अध्यक्ष परीक्षा पेपर लीक होने की बात से लगातार इनकार करते रहे. इसके बाद मीडिया की खबर चलने और दबाव के बढ़ने के बाद पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया. इस पूरे मामले में सबसे पहले अगमकुआं थाने से पवन, भोला और अतुल की गिरफ्तारी हुई. पवन ‘आंसर की’ छात्रों तक पहुंचाने वाला था. 

उसके बाद इस मामले में सबसे बड़ी गिरफ्तारी आयोग के सचिव परमेश्वर राम की हुई. उसके बाद राजीव नगर स्थित AVN स्कूल के संचालक रामाशीष सिंह की गिरफ्तारी हुई. उनके साथ-साथ इस मामले में रैंडम क्लासेज के संचालक रामेश्वर की गिरफ्तारी हुई, जिसने पूरे मामले में टारगेट तैयार करने समेत ‘आंसर की’ लीक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी. 

सचिव के साथ-साथ उनके स्कूल के मैनेजर समेत अन्य 7 लोगों की गिरफ्तारी भी हुई. इसके बाद भी जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ती गयी कुल 31 लोग पूरे मामले में गिरफ्तार हुए. सबसे बड़ी गिरफ्तारी BSSC चेयरमैन IAS सुधीर कुमार की हुई. इसमें उनके परिवार के लोगों के भी शामिल होने के आरोप लगे हैं. वहीं सुधीर कुमार की मदद करने वाले एक और आईएस सीके अनिल भी इसी मामले में फरार चल रहे हैं. SIT उनकी तलाश में जुटी है.

यह भी पढ़ें-  कहां हैं सी के अनिल? SIT ही नहीं BSSC को भी नहीं पता !

BSSC घोटाला : मंत्रियों ने माना – पैरवी की होगी हमने

BSSC पेपर लीक कांड से ली सबक, अब बिहार में सभी प्रतियोगी परीक्षाएं होंगी ऑनलाइन !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*