प्रकाशोत्सव : गुरु घर में पवित्र लंगर चखने पहुंच रहे श्रद्धालु

पटना : गुरु घर में लंगर चखने का बहुत महत्व माना जाता है. इसके लिए श्रद्धालु लंबी कतारों में खड़े हो कर अपनी बारी का इंतजार करते हैं. इस बार 350वें गुरुपर्व पर देश-विदेश से आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए लंगर की व्यवस्था करने में पटना साहिब गुरुद्वारा की प्रबंधक कमिटी कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती है.

श्रद्धालुओं की भारी संख्या को देखते हुए गुरुद्वारा में आटा गुथने वाली मशीन के साथ ही रोटी बनाने वाली मशीन का भी उपयोग किया जा रहा है. वहीँ तेजी से काम पूरा करने के लिए सब्जी काटने वाली मशीन की भी मदद ली जा रही है. लंगर में खाना बनाने के लिए हर वक़्त 400 के करीब कारीगर तैनात किये गये हैं.  सैकड़ों की संख्या में महिला श्रद्धालु भी रोटियां तैयार करने में जुटी हैं. साथ ही लंगर घर में प्रसाद परोसने के लिए 200 सेवादार हर वक्त मौजूद है. इसके अलावा बाहर से आये श्रद्धालु भी सेवा को धर्म मान कर लंगर में मुफ्त सेवा दे रहे हैं.

इस बारे में श्रद्धालु सतवीर कौर और गुरमीत सिंह ने बताया कि गुरु घर में सभी एक समान हैं. यहां गरीव से लेकर अमीर तक एक ही कतार में बैठ कर लंगर का प्रसाद चखते हैं. साथ ही सेवा भावना से श्रद्धालु लंगर में आकर खाना बनाने से लेकर खाना खिलानें और झूठा बर्तन धोने तक का काम मुफ्त करते हैं और इसे अपना सौभाग्य मानते हैं.

देखें वीडियो :

यह भी पढ़ें :

नीतीश की निश्चय यात्रा : हम वादे निभाने में विश्वास करते हैं

वाहे गुरु-वाहे गुरु के जयकारे से गूँज उठी दानापुर की सड़के

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*