पप्पू यादव की गिरफ्तारी के खिलाफ लालू-नीतीश का अर्थी जुलूस

पटना : जन अधिकार पार्टी (लो) ने आज पटना विश्‍वविद्यालय से कारगिल चौक तक मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और राजद प्रमुख लालू यादव का अर्थी जुलूस निकाला. इस दौरान कार्यकर्ताओं ने सरकार विरोधी नारे लगाए और पप्‍पू यादव की बिना शर्त रिहाई की मांग की. अर्थी जुलूस  का आयोजन पटना जिला कमेटी की ओर से किया गया था. पार्टी कार्यकर्ताओं ने पार्टी के संरक्षक व सांसद पप्‍पू यादव की गिरफ्तारी के खिलाफ अर्थी जुलूस निकाला था. अर्थी जुलूस के समापन पर लालू यादव व नीतीश कुमार की अर्थी को मुखाग्नि दी गयी.

कारगिल चौक पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्‍ट्रीय महासचिव व प्रवक्‍ता प्रेमचंद सिंह ने कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और राजद प्रमुख लालू यादव के इशारे पर पार्टी के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव को जबरन गिरफ्तार कर जेल भेजा गया. उन्‍होंने कहा कि पहले भी जब लालू यादव सत्‍ता में थे, तब भी पप्पू यादव को फंसाने का काम किया था. अब नीतीश कुमार के साथ मिलकर पप्‍पू  यादव को जान से मरवाने की साजिश रची जा रही है. इस तरह की मानसिकता के लोग कभी कामयाब नहीं होंगे.

सिंह ने कहा कि पप्‍पू यादव के साथ बिहार की 10 करोड़ जनता की दुआ और आशीर्वाद है. उन्‍होंने कहा कि पप्‍पू यादव पुन: इस षडयंत्र से बाहर होकर जनता की सेवा के लिए लगातार काम करते रहेंगे. न्‍यायालय से उन्‍हें न्‍याय मिलेगा और पार्टी को न्‍यायालय पर पूरा भरोसा है.

अर्थी जुलूस में राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष रघुपति प्रसाद सिंह, राष्‍ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह, राघवेंद्र कुशवाहा, अकबर अली परवेज, पटना जिलाध्‍यक्ष नवल किशोर यादव, प्रदेश उपाध्‍यक्ष शंकर पटेल, विजय मेहता, गौरीशंकर यादव, प्रद्युमन यादव, छात्र नेता आजाद चांद, आलोक कुमार, मुकेश कुमार, निकी कुमार, अखिलेश कुमार, रमेश राम, मनी यादव आदि मौजूद थे.

वहीं, जन अधिकार छात्र परिषद ने कॉलेज ऑफ कॉमर्स को बंद करा सांसद पप्‍पू यादव के समर्थन में नारेबाजी की और उन्‍हें बिना शर्त रिहाई की मांग भी की. इस दौरान छात्र नेता अमित कुमार मंडल, रमेश राम, चिंटू यादव, मुकेश यादव और राहुल यादव के अलावा बड़ी संख्‍या में छात्र मौजूद थे.

यह भी पढ़ें :

घंटों के हाई वोल्टेज ड्रामा के बाद सांसद पप्पू यादव गिरफ्तार

पप्पू यादव की पिटाई पर संसद में बरसीं रंजीत रंजन, कहा- कहीं मारने की साजिश तो नहीं !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*