#TrainAccident : एक साथ पहुंचा सात लोगो का शव , इलाके में कोहराम

पटना : ट्रेन हादसे में अब तक पटना सिटी के 12 लोग मारे गए हैं. सभी लोगों का शव चौक शिकारपुर , बेगमपुर और मच्छरहट्टा स्थित आवास पर पहुंचते ही मंगलवार को पटना सिटी में कोहराम मंच गया. मृतक के परिजनों को तो छोड़ ही दें, आस – पास के लोगों की भी आँखें भींगी हुई हैं. नहीं मिली अपनों की खबर तो खुद कानपुर निकले पटना सिटी निवासी

पटना सिटी से मरने वालों में सात पुरुष और पांच महिलायें हैं, जिसमे चार दंपति शामिल हैं. सबसे ज्यादा गमगीन माहौल चौक शिकारपुर का है. इस इलाके से तीन दंपति मिलाकर कुल नौ लोगो की जान ट्रेन दुर्घटना ने ले ली. यहां चार महिला और पांच पुरुषों की मौत हुई है जबकि मच्छरहट्टा से पति-पत्नी समेत दो लोगो की मौत हुई है. उधर बेगमपुर में एक पुरुष की मौत हुई है.

इलाके के लोग यूं तो कल से ही अपने सदस्यो के शव का इंतजार कर रहे थे. आज सात लोगो का शव एक साथ पंहुचा, जिससे पुरे इलाके के लोग शव की एक झलक देखने के लिए हजारों की संख्या में जुट गए. जैसे – जैसे शव आता गया लोगो के आंखों से आंसू निकलने लगे. देखें वीडियो :

बता दें कि रविवार को कानपुर के पास हुई रेल दुर्घटना में मरने वालों की संख्या 142 हो गई है. हादसा तब हुआ जब इंदौर से पटना आ रही एक्सप्रेस ट्रेन के 14 कोच पटरी से उतर गए. इसी में पटना सिटी इलाके से अलग – अलग ग्रुप में कुल 60 लोगो की टीम उज्जैन के महाकाल का दर्शन कर लौट रहे थे और हादसे का शिकार हो गए. इलाके के नौ लोग अभी घायल हैं, साथ ही और लापता लोगों की भी तलाश की जा रही है.

 

उधर इस हादसे में हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका बनी हुई है. रेल विभाग के पीआरओ अमित मालवीय ने बताया कि अब तक 142 शव बरामद किए जा चुके हैं, जबकि घायलों की संख्या 180 है. रविवार रात तक 133 शव निकाले जा चुके थे और सोमवार को नौ और शव मिले. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हादसे के कारणों की जांच के आदेश दिए हैं और कहा है कि ज़िम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई होगी.

यह भी पढ़ें :

400 घायलों को लेकर स्पेशल ट्रेन पहुंची पटना, तस्वीरों में देखें यात्रियों का दर्द

कानपुर ट्रेन हादसा : आगरा में पीएम की रैली पर भड़के बिहार के नेता

वो खैनी खाने के लिए पहुंचा था दरवाजे तक, आंखों से देखे थे पलटते डिब्बे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*