पेशे पर सवाल : सर्जरी के लायक नहीं थी महिला तो क्यों खोल दिया पेट…  

पटना/आरा (अजीत) : महावीर कैंसर संस्थान में भर्ती बच्चेदानी कैंसर से पीड़ित महिला का पेट चीर कर ऑपरेशन किये बिना ही स्टिच कर दिया. मरीज की हालत देखते हुए डाक्टर ने ऑपेरशन करने से इनकार कर दिया. इसके बाद परिजन भड़क उठे और संस्थान के खिलाफ जम कर भड़ास निकाला. चिकित्सक की इस करतूत से मरीज के परिजन में काफी आक्रोश है. परिजनों ने बताया कि ऑपरेशन नहीं करना था, तो पेट क्यों खोल दिया. इस से मरीज की जान जा सकती थी. चिकित्सक की करतूत से मरीज को भी सदमा लगा है. 

आरा जिले के शाहपुर थाने के रूदपुर गांव निवासी 50 साल की महिला उर्मिला देवी बच्चेदानी कैंसर से ग्रस्त है. उसे एक अप्रैल को महावीर कैंसर संस्थान में ऑपरेशन के लिए एडमिट कराया गया था. ऑपरेशन से पहले महावीर कैंसर संस्थान द्वारा सारी जांच भी करायी जा चुकी थी. इस संबंध में पीड़ित महिला के बेटे रमेश कुमार ने महावीर कैंसर संस्थान पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि डॉ अनिल चौधरी ने गत छः अप्रैल को बच्चेदानी कैंसर से ग्रस्त उसकी मां का ऑपरेशन करने केलिए ओटी में घुसे. लगभग आधे घंटे के बाद डॉक्टर ने ओटी से निकल कर कहा कि उनकी मां की बच्चेदानी में कैंसर का व्यापक रूप ले चुका है और वर्तमान में ऑपरेशन   के लायक नहीं है. ऑपरेशन नहीं होगा और दवा व कीमोथेरैपी से इलाज करने के बाद ही ऑपरेशन किया जा सकता है. ऑपरेशन का जमा पैसा वापस ले लो. यह बात सुन कर वह सन्न रह गया. रमेश डॉ अनिल चौधरी से बार बार पूछना चाहा तो डा अनिल कुछ भी बताने से इनकार किया. 25 हजार रुपये जमा किया था और आठ अप्रैल को 12 हजार रुपये वापस मिला. 

रमेश ने यह भी बताया कि संस्थान ने मेडिकल बोर्ड में ऑपरेशन करने का निर्णय लिया था. पंद्रह मार्च को संस्थान से फोन गया कि 29 मार्च को ऑपरेशन होना है. 27 मार्च को मां के साथ संस्थान में आ गये. 29 मार्च को ऑपरेशन ना होकर छः अप्रैल की तिथि तय हुई. इस संबंध में संस्थान की सहायक निदेशक डॉ मनीषा सिंह ने बताया कि रोगी की फाइल हिस्ट्री देखी जायेगी. उन्होंने यह भी बताया कि सारी जांच होने के बाद भी कैंसर का व्यापक रूप मालूम नहीं पड़ता है. पेट खोलने के बाद ही कैंसर का असल रूप पता चलता है. व्यापक कैंसर होने पर चिकित्सक दवा देकर कंट्रोल करते हैं.

यह भी पढ़ें-  PMCH यौन शोषण मामले में आरोपी डॉक्टर गिरफ्तार

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*