आइये मिलते हैं इस बिहारी चार्ली चैप्लिन से

charli-2

मुंगेर (सुनील जख्मी) : नक्सल प्रभावित टेटिया बंबर प्रखंड के बंबर निवासी किसान लक्ष्मण प्रसाद सिंह और सुनीता सिंह के छोटे पुत्र राजन ने लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्डस में अपना नाम दर्ज कराया है. चार्ली-चैप्लिन द्वितीय का किरदार निभाकर उन्होंने यह सफलता पाई है.

राजन ने चार्ली चैप्लिन द्वितीय के रूप में दुनिया के अलग-अलग देशों में 4000 से अधिक शो किए और 12,100 घंटे तक इस किरदार को निभाया. राजन बताते हैं कि शुरू से ही गांव में आयोजित नाटकों में वे भाग लेते थे. 1998 में छऊ नृत्य के लिए उन्हें भारत सरकार की ओर से पुरस्कृत किया गया था.

राजन ने केरल में करली पैठू का प्रशिक्षण भी लिया था. हिमाचल के थियेटर आर्ट से डिप्लोमा की डिग्री ली. 2000 में दिल्ली के नेशनल स्कूल आफ ड्रॉमा से भी उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त किया. राजन बताते हैं कि एक बार गांव में उनके दोस्तों ने उन्हें माइकल जैक्सन का किरदार निभाने की सलाह दी.

charli-2

इसके बाद उन्होंने माइकल जैक्सन तो नहीं, लेकिन चार्ली चैप्लिन बनकर लोगों का मनोरंजन करने की बात ठान ली. राजन बताते हैं कि इसके बाद से उन्होंने चार्ली चैप्लिन के गेटअप में अभिनय शुरू किया.

अभी तक वे अमेरिका, लंदन, श्रीलंका, नेपाल सहित एक दर्जन देशों में शो कर चुके हैं. 2004 में उन्हें चार्ली चैप्लिन द्वितीय का खिताब मिला. राजन बताते हैं कि इस काम में परिवार वालों ने भी उनका हौसला बढ़ाया.

यह भी पढ़ें- पिता के संस्कार और लाल बत्ती गाड़ी से प्रभावित होकर बना आईआरएस : अजय सिंह

बिहार की बेटी बनीं मिसेज ब्यूटीफुल, सोनाक्षी सिन्हा ने की तारीफ

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*