IMEI तोड़कर कर बेचते थे चोरी का मोबाइल, ग्राहक ने ही कराया गिरफ्तार

पटना : मोनू और बलवीर मिलकर पहले मोबाइल चुराते थे. फिर मोनू मोबाइल का IMEI नंबर ब्रेक कर देता था. तब तक बलवीर मोबाइल के लिए कोई ग्राहक खोज कर रखे रहता था. जैसे ही फोन का IMEI नंबर क्रैक हो जाता, फोन किसी और के बेच दिया जाता था. इस तर मोनू और बलवीर ने मिलकर करीब सैकड़ों मोबाइलें चुरा कर बेच दी थी. पर सोमवार को वो पुलिस के जल में फंस गए. पुलिस ने उन्हें दबोच लिया. तलाशी लेने पर चोरी के छह मोबाइल फोन भी जब्त कर लिए.

पटना एसएसपी मनु महाराज को किसी ने फोन कर गुप्त सूचना दी कि मोनू और बलवीर मिलकर इस तरह का काम करते हैं. मनु महाराज ने अपना जाल बिछाया. फोन करने वाले को ही ग्राहक बनाकर पेश कर दिया. इधर पत्रकार नगर थाने को मौके पर पहुंचने की सूचना दे दी. अपने ग्राहक का इंतजार कर रहे मोनू को ग्राहक की निशानदेही पर आसानी से गिरफ्तार कर लिया गया. फिर उसी की निशानदेही पर दूसरे साथी यानी बलवीर को भी पुलिस ने कंकड़बाग ओवरब्रीज से गिरफ्तार कर लिया.

पत्रकार नगर थाना लाकर दोनों की तालाशी ली गई तो पास से चोरी के छह मोबाइल भी जब्त हो गईं. पूछताछ करने पर पुलिस को पता चला कि दोनो पिछले कई सालों से यही काम कर रहे हैं. अभी तक सैकड़ों मोबाइल चुरा कर बेच चुके हैं. आईएमईआई नंबर क्रैक कर देते थे, इसीलिए कभी पकड़े नहीं जा सके. चोरी के मोबाइलों को पटना सिटी और बाकरगंज इलाके में बेच दिया जाता था.

एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि इस तरह के असामाजिक तत्वों के खिलाफ लोगों की शिकायतों पर कार्रवाई करने में देर नहीं की जाएगी. दोनों से पूछताछ पर इनके गिरोह के और लोगों का पता चलेगा. पुलिस उनके खिलाफ भी कार्रवाई करेगी.

About Abhishek Anand 140 Articles
Abhishek Anand

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*