अगले हफ्ते जेल से बाहर आ जायेंगे अनंत सिंह

पटना : समर्थकों ने आस बनाये रखी है . न्यायिक प्रक्रिया और केस-कचहरी के जानकार भी ऐसी ही उम्मीद कर रहे हैं . इन सबों की मान लें, तो अगले हफ्ते मतलब अप्रैल महीने में ही मोकामा के दबंग निर्दलीय विधायक अनंत कुमार सिंह पटना के बेऊर जेल से बाहर आ जायेंगे .

दरसअल, अनंत सिंह समर्थकों को इसी हफ्ते में उनके जेल से बाहर आ जाने का भरोसा था . स्वागत आदि की तैयारी भी कर ली गई थी . अनंत सिंह के जेल के छूटने में सबसे बड़ी बाधा उनके खिलाफ बिहार सरकार द्वारा 2016 में लगाया गया सीसीए था . पटना हाई कोर्ट ने भी इस पर मुहर लगा दी थी . लेकिन 12 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ ने अनंत सिंह के खिलाफ लगे सीसीए को निरस्त कर दिया था . इसके बाद विधायक का जेल से छूट जाना तय माना जा रहा था,क्योंकि अन्य सभी ज्ञात मुकदमों में उन्हें कोर्ट ने अलग-अलग तारीखों में पहले ही जमानत दे दी थी .

पर, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जब बेऊर जेल से छूटने का दिन आया,तो प्रशासन ने अंतिम समय में गया जिले में दर्ज एक और मुकदमे में अनंत सिंह के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट बेऊर जेल पहुंचा दिया . ऐसे में,अंतिम क्षण में जेल से रिहाई रुक गई . गया जिले के मुकदमे की जानकारी अनंत सिंह के वकीलों को भी नहीं थी . यह मुकदमा तब दर्ज किया गया था,जब जीतन राम मांझी बिहार के मुख्य मंत्री थे . तब अनंत सिंह जदयू के विधायक थे और नीतीश कुमार की लड़ाई में शामिल थे .

आरोप लगा था कि अनंत सिंह ने मुख्य मंत्री जीतन राम मांझी को टीवी पर धमकी दी . इस मामले में मांझी के घर वालों ने गया में रिपोर्ट लिखा दी थी . यह दूसरी बात है कि इस प्राथमिकी पर कोई आगे की मुकम्मल जांच अब तक नहीं हुई है . और तो और कोई बयान आदि भी मांझी का नहीं लिया गया .
अब अनंत सिंह ने इस मामले में भी अपनी हाजिरी शुक्रवार को गया के कोर्ट में दर्ज करा दी है . हाजिरी के बाद वे बेऊर जेल लौट आये हैं . ऐसे में,कोर्ट में प्रोडक्शन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है . अब जमानत की अर्जी दायर होगी,जिस पर बहस की जाएगी . केस-मुकदमे के जानकार पटना हाई कोर्ट के वकीलों का कहना है कि यह ऐसा कोई केस नहीं है,जिसमें बहुत समय लगे . हां, प्रक्रिया में थोड़ा वक़्त जरुर लग सकता है .

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*