बीएमपी के पूर्व जवान की गला दबाकर हत्त्या, मृतक पर था कई गंभीर आरोप

फुलवारी शरीफ(अजित कुमार) :  पटना में अपराधियों ने बीएमपी के पूर्व जवांन राह चुके एक व्यक्ति की गला दबाकर हत्त्या कर दी और शव को ठिकाने लगाने जा ही रहे थे कि पुलिस की वाहन जाँच को देखकर डेड बॉडी को स्कॉर्पियो में बीच सड़क पर छोड़ फरार हो गए । मामले का खुलासा कुछ यूं हुआ । वाहन जांच के दौरान पटना के बाईपास थाना की पुलिस को देखते ही स्कॉर्पियो सवार लोग गाड़ी छोड़कर फरार हो गए । पुलिस ने जब उस स्कॉर्पियो की तलाशी ली तो उसमे एक डेड बॉडी देख पुलिस टीम भी दंग रह गयी । डेड बॉडी की शिनाख्त पटना के नौबतपुर के नगवा निवासी गिरजा शर्मा के बेटे निरंजन शर्मा के रूप में किया गया ।

निरंजन शर्मा पूर्व में बीएमपी का जवान रह चुका है उसके गलत व्यवहार को लेकर उसे बीएमपी से कई बार सस्पेंड किया जा चुका था । नौबतपुर से मिली जानकारी के अनुसार निरंजन शर्मा पूर्व में अपनी माँ की हत्त्या भी कर चुका है । माँ की हत्या मामले में जेल भी गया था । इतना ही नही शराब पीने का आदि हो चुका निरंजन शर्मा ने अपनी पत्नी को भी मारपीट कर घर से निकाल दिया था ।पत्नी और बच्चे भी उसके साथ नही रहते थे । फिलहाल वह फुलवारी शरीफ इलाके में रह रहा था । जिस स्कॉर्पियो से उसकी डेड बॉडी बरामद हुई है वह स्कॉर्पियो भी निरंजन शर्मा का ही था । निरंजन शर्मा इधर उसी स्कॉर्पियो को खुद ही चलाता भी था ।

इस घटना के बाद नौबतपुर के नगवा गांव में निरंजन शर्मा के घर वाले कहाँ गए इसका पता भी नही चल पा रहा है । घर मे ताला लटका हुआ है और ग्रामीण भी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं । कई तरह की बातें ग्रामीण चर्चा में कर रहे हैं । फुलवारी शरीफ के मौर्य विहार में लोगों ने बताया की तीन चार दिन पहले उसे इलाके में देखा गया था |काफी पहले निरंजन शर्मा मौर्य विहार कोलोनी में ही किराए में रहता था और करीब साल भर पहले ही कोलोनी का मकान खाली कर कहीं अन्यत्र रहने चला गया था |उसकी पत्नी निर्मला देवी दो बेटी और एक बेटा को लेकर मायके में ही रहती है |
बाईपास थानेदार ने बताया कि प्रकाश पर्व को लेकर इलाके में पुलिस है अलर्ट पर है । इस इलाके से गुजरने वाले सभी छोटे बड़े वाहनों की सघन जाँच जी जा रही थी । पुलिस को देखते ही एक स्कॉर्पियो पर सवार कुछ लोग गाड़ी छोड़कर भाग निकले । जब खाली स्कॉर्पियो की पुलिस ने तलाशी ली तो उसमें एक व्यक्ति की डेड बॉडी मिला । अपराधियों ने उसका गला दबाकर हत्त्या अन्यत्र करने के बाद लाश को ठिकाने लगाने जा रहे थे तभी वाहन जांच के दौरान पुलिस को देख भाग खड़े हुए ।

उन्होंने बताया कि मृतक की पहचान नौबतपुर के नगवा निवासी निरंजन शर्मा के रूप में किया गया है । पुलिस इस मामले की तहकीकात में जुटी है कि इसकी हत्त्या कहाँ की गई और कौन कौन लोग इसमे शामिल हैं ।पुलिस इस बात का भी पता लगाने में जुटी है कि हत्त्या किन कारणों से किया गया है । फिलहाल पुलिस ने स्कॉर्पियो को जप्त कर लाश को पोस्टमार्टम कराने भेजा है । थानेदार ने बताया की मृतक की शिनाख्त के बाद उसकी पत्नी निर्मला देवी थाने पहुंची है | पुलिस हर पहलु को ध्यान में रखकर तहकीकात में जुटी है |
फुलवारी शरीफ थानेदार अजीत कुमार का कहना है कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नही है । उन्होंने बताया कि फुलवारी शरीफ थाना इलाके में निरंजन शर्मा कहाँ रहता था उसकी जानकारी भी पुलिस को नही है और न ही उनके थाने से किसी ने संपर्क ही किया है । थानेदार ने बताया कि उन्हें इस मामले की जानकारी मीडिया से ही मिली है ।

अव्वल दर्जे का कुकर्मी था निरंजन शर्मा :

नौबतपुर के नगवा गांव के लोगों की माने तो निरंजन अव्वल दर्जे जा कुकर्मी था । उसका नाम निरंजन कुमार उर्फ दीपू था । उसने धोखे से पहले अपने पिता गिरजा शर्मा की हत्या जहर देकर कर दिया था । तब अनुकंपा पर उसे नौकरी मिल गयी थी । इसके बाद करीब आठ साल पूर्व उसने अपनी मां की हत्या भी जहर देकर ही कर दिया था । इस मामले में वह जेल भी गया था । इतना ही नही कुकर्मी निरंजन उर्फ दीपू ने अपने घर की महिलाओं को भी अपनी हवश का शिकार बना डाला था । इसके अलावा गांव और आस पास के इलाके में कई बार गांव की बहु बेटी के साथ रेप कर चुका था । दबी जुबान ग्रामीन बताते हैं कि लोक-लाज के भय से कुकर्मी के खिलाफ रेप का कोई मामला थाना नहीं पहुंचा । निरंजन के कुकर्मो के बारे में जब उसकी पत्नी को जानकारी हुई तब अपनी हत्या के डर से ही उसकी पत्नी भागी रहती है । निरंजन की ससुराल आरा जिला में कहीं है । इसके अलावा अपने गांव नगवां में सच्चिदानन्द सिंह की हत्या में भी निरंजन शामिल था । ग्रामीणों का मानना है कि निरंजन की हत्या भी कही प्रेम प्रसंग में ही हुई होगी । इसका कारण यह कि वह दिन रात इसी फेरे में रहता था । नगवां और आसपास के गांवों के लोग निरंजन के कारनामो से त्रस्त थे । ग्रामीणों का कहना है की एक नम्बर ड्रिंकर था निरंजन शर्मा । उसे दो बेटी औऱ एक बेटा है । यहां उसके घर मे कोई नहीं रहता । गोतिया परिवार से भी उसके गलत वयवहार को लेकर किसी से बनाव नहीं रहता था ।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*