#InternationalWomen’sDay : नहीं रहेगी महिला तो नहीं होगा हेल्थ केयर

पटना : “स्वास्थ्य सेवाओं में यदि महिलाओं की भूमिका हटा दी जाए तो हेल्थ केयर खत्म हो जाएगा.” ऐसा खुद पारस हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक डॉ धर्मेन्द्र नागर मानते हैं. अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर पारस हॉस्पिटल की ओर से महिलाओं के सम्मान में एक खास समारोह का आयोजन किया गया. जिसमें पिछले एक माह से चल रहे गो रेड अभियान का समापन हुआ.

 

इस मौके पर गो रेड अभियान की सफलता का जिक्र करते हुए धर्मेन्द्र नागर ने कहा कि  महिलाओं के बगैर हेल्थ केयर की बात सोचना बेनामी है. महिलाओं में हृदय रोग के संबंध में अवेयरनेस को केन्द्र में रख पारस एचएमआरई हास्पिटल द्वारा विगत एक माह से चलाया जा रहा गो रेड कैम्पेन सफल रहा. उन्होंने कहा कि इसे एक अभियान के तौर पर पारस की टीम ने चलाया. इस मौके पर अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को पारस एचएमआरआई की ओर से सम्मानित भी किया गया.


इस मौके पर पारस एचएमआरआई के स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक डॉ तलत हलीम ने इस अभियान के बारे में बताया कि अमेरिका में फरवरी में गो रेड कार्यक्रम आयोजन होता है जिसमें लाल कपड़े पहनकर हेल्थ सर्विसेज के लोग महिलाओं को हृदय रोग से संबंधिंत जानकारी देते हैं.  उन्हें इसके लक्षण, बचाव और इलाज के बारे में उचित जानकारी दी जाती है. पटना में पारस हास्पिटल ने इसी तर्ज पर कार्यक्रम का आयोजन फरवरी में आरंभ किया और यह एक माह तक चला. पारस की टीम महिला काॅलेजों और स्कूलों में गयी और इस मुद्दे पर टाॅकशो भी किया.

इस मौके पर आठ महिलाओं को अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट काम करने के लिए सम्मानित भी किया गया.  उनमे इंटरनेशनल स्कूल की संस्थापिका फरहत हसन, महिला उद्यमी हंसा सिन्हा, दूरदर्शन से जुड़ी रत्ना पुरकायस्थ, संगीनी क्लब की अध्यक्ष मोनी त्रिपाठी, नीना श्रीवास्तव, पुष्पा, डॉ सीता मुखोपाध्याय और डॉ उषासी गुप्ता शामिल हैं.

यह भी पढ़ें : #InternationalWomen’sDay : पार्टी नहीं आयी आड़े, सभी महिला MLA ने एक स्वर में मांगा ये…

#InternationalWomen’sDay : पटना का एक चेहरा यह भी, 21 की उम्र में संवार दी हजारों महिलाओं की जिंदगी

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*