अब प्राइवेट स्कूलों की मनमानी होगी बंद, सिर्फ NCERT की किताबें चलेंगी

लाइव सिटीज डेस्क : अब सीबीएसई एफिलिएटेड निजी स्कूलों की मनमानी नहीं चलेगी.  निजी प्रकाशकों की पाठ्यपुस्तक खरीदने का दबाव अब स्कूल छात्रों को नहीं दे पाएंगे. दरअसल, शैक्षिक सत्र 2017-18 से देश के सभी सीबीएसई स्कूलों को एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों को ही पाठ्यक्रम में चलाना होगा. यह फैसला केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर की अध्यक्षता वाली एक समीक्षा मीटिंग में लिया गया है. आपको बता दें कि अधिकांश प्राइवेट स्कूल निजी प्रकाशकों की पाठ्य पुस्तक खरीदने को बाध्य कर देते हैं. जो की NCERT किताब की तुलना में कही ज्यादा मंहगा होता है. जिससे अभिभावक की जेब पर असर पड़ता है. सरकार के इस फैसले से लाखों अभिभावकों को राहत मिलेगी. निजी प्रकाशकों की किताबों का दाम एनसीईआरटी के मुकाबले 300-600 फीसदी ज्यादा होता है. एक वरिष्ठ एचआरडी अधिकारी ने बताया कि एनसीईआरटी को पर्याप्त संख्या में मार्च के अंत तक देश भर में पुस्तक उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है ताकि शैक्षिक सत्र 2017-18 के लिए अप्रैल तक की सीमा पूरी हो सके. सभी सीबीएसई स्कूलों को 22 फरवरी, 2017 तक सीबीएसई की वेबसाइट पर मांग ऑनलाइन जमा करनी होगी.

यह भी पढ़ें- Expert Opinion : अपना Best Effort दें और Race में बने रहें, मिलेगी सफलता

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*