नहीं मिली अपनों की खबर तो खुद कानपुर निकले पटना सिटी निवासी

पटना :  कानपुर के पोखरायन में हुए ट्रेन हादसे को लेकर पूरा पटना सिटी गम के माहौल में डूबा है.  घटना में पटना सिटी इलाके के भी कई  लोगों की मौत हुई और कई घायल हुए हैं. वहीं  कई लोग अब भी गायब बताये जा रहे हैं.  अपनों की सही खबर नहीं मिलने के कारण पटना सिटी में उनके परिजनों को हालत खराब है. पटना सिटी के चौक शिकारपुर, बेगमपुर और मच्छरहट्टा इलाके के 60 लोग उज्जैन में महाकाल का दर्शन करने गए थे और वे इंदौर-पटना ट्रेन से वापस आ रहे थे.  इनमे से कई लोगों की मौत हो गयी वहीं कई घायल और लापता बताए जा रहे हैं.

vlcsnap-2016-11-21-18h47m13s50

इन लोगों की हुई मौत

पटना आने वाले 21 लोगों की एक टीम में चौक शिकारपुर के रहने वाले 75  वर्षीय बालदेव प्रसाद, 65 वर्षीय नागेन्द्र सिंह  और बेगमपुर के तारकेश्वर मेहता तथा मच्छरहट्टा के ब्रह्मानंद वर्मा की ट्रेन दुर्घटना में मौत की पुष्टि हो चुकी है. वहीं चौक शिकारपुर स्थित संकट मोचन लेन के नरेंद्र सिन्हा का शव सोमवार को उनके घर पहुंच. जिससे बाद पूरे इलाके में गम का माहौल बना हुआ है. इस घटना से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. कई अन्य लोगों के शव भी परिजनों के घर पहुंच गए हैं.

ये लोग बताये जा रहे लापता

ट्रेन हादसे के बाद चौक शिकारपुर के त्रिलोकी सिन्हा और उनकी पत्नी कुमकुम सिन्हा तथा पास के ही रहने वाले मनोज साह और पत्नी प्रेमलता देवी का अब तक सुराग नहीं मिला हैं. इनके परिजन कानपुर में तलाश कर हैं. फिलहाल स्पष्ट सूचना न मिलने से घर के लोग बार बार न्यूज चैनलों के माध्यम से जानकारी जुटाने में लगे हैं. परिजनों को टीवी से सूचना मिली है की S-1 में सवार अशोक कुमार घायल है उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं उनकी पत्नी राधिका देवी की भी जानकारी नहीं मिल पा रही है। इस कारण परिजन चिंतित हैं और उनकी तलाश के लिए कानपुर रवाना हो गए हैं. घर के सदस्यो का कहना है कि  अशोक कुमार और उनकी पत्नी राधिका देवी  20 लोगों के समूह में उज्जैन महाकाल का दर्शन कर इंदौर-पटना ट्रेन से पटना वापस लौट रहे थे.

vlcsnap-2016-11-21-18h46m44s150

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*