पटना सिटी में इस बार कहां-क्या है ख़ास घूमने के लिए, अभी देखें तस्वीरों में

चैलीटाड

पटना सिटी (जुलकर नैन की रिपोर्ट) : मां शेरावाली की आराधना में पटना सिटी डूब चुकी है. पूजा पंडालों को आकर्षक ढंग से सजाया गया है. रंग-बिरंगे बल्ब तथा आकृतियों वाली सजावट से शहर जगमगा रहा है. मंगलवार को देर रात मारूफगंज स्थित बड़ी देवी जी एवं गुरहट्टा स्थित बड़ी देवी जी का पट खुला एवं रानी पुर काली माता का पट भक्तों के लिए खुल गया. मां भगवती के दर्शन को श्रद्धालु उमड़ पड़े. पूजा-अर्चना कर सबने आशीर्वाद लिया. गायघाट के समीप बंगाली समाज द्वारा दुर्गा पूजा की भव्य तैयारियां की गई है. कई अन्य पूजा पंडालों में भी प्रतिमा के दर्शन को भक्त पहुंचते नजर आए. यहां हजारों की संख्या में देर रात तक भक्तों ने माता के दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त किया. आपको बताते चलें मारूफगंज में पिछले कई वर्षों से श्री बड़ी देवी जी प्रबंधक समिति की ओर से माता की भव्य प्रतिमा स्थापित की जाती है.

दशमी के दिन मारूफगंज स्थापित बड़ी देवी जी और महाराजगंज स्थापित छोटी देवी जी का मिलन होता है. इस दौरान दोनों देवियों के बीच खोंइछा की बदली की जाती है. इस दिन माता के दर्शन के लिए भक्तों की भारी भीड़ जुटती है. लोग दूर-दूर से यहां माता का दर्शन करने आते हैं.

बड़ी देवी जी, मारुफगंज

आइये आपको बताते चलते हैं कि किस जगह पर आपको आकर्षण पंडाल और लाईटिंग देखने को मिलेगी. अगर आप पटना की ओर से आ रहें हैं तो सबसे पहले आप बाज़ार समिति में और मुसल्लहपुर हाट के पास आपको आकर्षक लाईटिंग देखने को मिलेगा और उसके बाद हम बढ़ते हैं महावीर चौक, त्रिपौलिया के पास. आप आकर्षक लाईटिंग और विशाल प्रतिमा का दर्शन कर सकते हैं. शेरशाह रोड में कोयरी टोला के कमला पूजा  समिति की आकर्षक लाईटिंग देखने को मिलेगा.

मुसल्लहपुर में बना गेट

उसके बाद आप नयागाँव, महारागंज में भव्य मंदिर देखने को मिलेगा. थोड़ा आगे बढ़ने पर आप महाराजगंज चैलीटाल में कौड़ी से बना हुआ गेट देख सकते हैं. चैलीटाल में मनोरंजन पूजा समिति के द्वारा प्लास्टिक के रस्सी से देवी स्थान को आकर्षक रूप दिया गया है.

नया गांव
चैलीटाड में कौड़ी का बना गेट
चैलीटाड

उसके बाद आप महाराजगंज बड़ी देवी जी के दर्शन करते हुए बड़ी पटन देवी मंदिर के दर्शन करते हुए अशोक राजपथ के रास्ते गुरहट्टा स्थित भारत माता पूजा समिति के द्वारा आयोजित मातारानी के जागरण का आनंद ले सकते हैं, जिसमें अरविंद अकेला उर्फ कल्लू, और अनु दुबे अपनी प्रस्तुति देगें. गुरहट्टा देवी जी के बाद आप खाजेकलाँ पानी टंकी के पास इंडिया गेट देख सकते हैं.

महाराजगंज बड़ी देवी जी
गुरहट्टा
गुलजार बाग़ सांस्कृतिक परिषद् में पूजा

फिर आप टेढ़ी घाट में बना लंदन का ट्विन टावर और अशोक स्तंभ देख सकते हैं. शहीद भगत सिंह चौक पर मारवाड़ी युवा मंच के द्वारा लगाए गए दशहरा सेवा शिविर में प्रसाद ग्रहण करने के बाद आप अशोक राजपथ के रास्ते मारुफ़गंज के तरफ बढ़ते-बढ़ते कई आकर्षक प्रतिमा का दर्शन कर सकते हैं.

टेढ़ीघाट में

बड़ी देवी जी मारुफ़गंज के दर्शन के बाद आप दलहट्टा देवी जी, फिर गली के रास्ते से ही पटना घाट स्टेशन के नजदीक भारत माता की प्रतिमा, फिर नंदगोला बड़ी देवी जी और उसके बाद नन्दगोला नागा बाबा के मंदिर में प्रतिमा का दर्शन करते हुए नुरूद्दीनगंज में चलती–फिरती देवी जी के दर्शन करते हुए मालसलामी के रास्ते वापस हो सकते हैं.

मारुफ़गंज बड़ी देवी जी का पंडाल
दलहट्टा
सिमली नुरुद्दीनगंज
छोटी पटन देवी गली
शीतला माता मंदिर में सजावट

लाइव सिटीज अपने रीडर्स से ये अनुरोध करता है कि अगर आप इस दुर्गा पूजा में छोटे बच्चों के साथ घूमने जा रहे हैं तो अपने बच्चे के शर्ट और पैंट के जेब में परिवार के सदस्य का मोबाइल नंबर और पता लिख कर रख दें ताकि किसी अप्रिय स्थित में बच्चे की पहचान आसानी से हो सके.

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

About Anjani Pandey 35 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*