पटना में #Paytm से पेमेंट करना लड़कियों को पड़ रहा महंगा

पटना : नोटबंदी के बाद से देश में कैशलेस पेमेंट पर जोर दिया जाने लगा है. पटना शहर मे भी लोग अब ई-वॉलेट से पेमेंट करने लगे हैं. मॉल से लेकर सब्जी दुकान तक ई-वॉलेट का प्रयोग लगातार बढ़ रहा है.

हालांकि इस से लोगों की प्राइवेसी पर खतरा बढ़ने लगा है. खास कर लड़कियों और महिलाओं के साथ. पटना में कई लड़कियां हॉस्टल्स में रह कर पढ़ाई करती हैं. कई लड़कियों का कहना है कि पेटीएम से पेमेंट करने के बाद उनके पास कई अनजान नंबरों से कॉल आने लगी हैं. कोई ब्लैंक कॉल करता है, तो कोई अश्लील मेसेज भेज रहा है.

बोरिग रोड में रहने वालीं भावना स्टूडेंट हैं. उनका कहना है कि नोटबंदी के 10 दिन बाद से उन्होंने पेटीएम का यूज करना शुरू किया. कई जगह खरीदारी कर वह इससे पेमेंट कर चुकी हैं. पर तभी से उनके मोबाइल पर अनजान नंबरों से मेसेज आ रहे हैं. कई बार तो वॉट्सएप पर अश्लील GIF तक आते हैं. उनका कहना है कि जिस नंबर से पेटीएम अकाउंट है, उसी से उनका वॉट्सएप भी चलता है. ऐसे में अब डर है कि कहीं कोई डीपी का मिसयूज न कर ले. भावना ने इसी डर से अब डीपी हटा दिया है. वो अब पुलिस में भी रिपोर्ट करने की सोच रही हैं.

कंकड़बाग इलाके की रत्ना प्रिया भी पेटीएम का इस्तेमाल करती हैं. उनका कहना है कि जब से यह पेटीएम अपनाया है, प्राइवेसी को लेकर मेरी परेशानी बढ़ गई है. उनके मोबाइल पर भी ब्लैंक कॉल आने लगे हैं. कॉलर की जानकारी ट्रूकॉलर से भी नहीं मिलती. जब एक नंबर ब्लॉक करती हैं, तो उधर से दूसरे नंबर से कॉल आता है. रत्ना का कहना है कि पेटीएम यूज करने के बाद ही किसी को उनका नंबर मिला है.

उधर बेली रोड में फ्लैट ले कर रहने वाली स्वाति ने पास ही एक दुकान से स्वेटर लिया जिसका भुगतान उसने पेटीएम से किया. उसी रात से उन्हें भी लगातार अनजान नंबरों से कॉल आने लगा है.

जियो सिम कार्ड का हो रहा ज्यादा यूज
देखने में आ रहा है कि जिन नंबरों से महिलाओं को परेशान किया जा रहा है, उनमें अधिकतर जियो के हैं. कॉल फ्री होने के कारण हजारों लोग इन नंबरों का यूज कर रहे हैं. पटना में हालांकि पुलिस को अभीतक आधिकारिक तौर पर ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है.

यह भी पढ़ें :

पढ़िए और जानिए : किसने लगाया Paytm पर लोगो चोरी का आरोप

‘क्या सरकारी हो गया है PayTM..?’

Paytm लाया नया सिक्योरिटी फीचर, और अधिक सुरक्षित होगा आपका ई वॉलेट

About Abhishek Anand 140 Articles
Abhishek Anand

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*