टाइम मैगजीन पोल : पीएम मोदी नहीं रहे प्रभावशाली, नहीं मिला एक भी वोट

New Delhi: Prime Minister Narendra Modi at the release of Vice-President Hamid Ansari’s book ‘Citizen and Society’ at Rashtrapati Bhawan in New Delhi on Friday. PTI Photo by Subhav Shukla(PTI9_23_2016_000085B)

लाइव सिटीज डेस्क : मोदी प्रशंसकों के लिए निराशाजनक खबर है. कभी टाइम मैगज़ीन में प्रभावशाली व्यक्तियों की रेस में रहने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को  इस बार एक भी वोट नहीं मिले हैं. वहीं हमेशा विवादों में रहने वाले फिलीपींस के राष्ट्रपति रॉड्रिगो दुतेर्ते को टाइम मैगजीन के रीडर्स पोल में 100 सर्वाधिक प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में पहला स्थान हासिल हुआ है.  दुतर्ते टाइम्स 100 रीडर्स पोल में लगातार आगे रहे थे.

बता दें कि यह एक ऑनलाइल सर्वे है जिसमें प्रकाशक ने अपने पाठकों से उन लोगों के लिए वोट करने को कहा था, जिन्हें इस वर्ष टाइम की 100 सर्वाधिक प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में शामिल किया जाना चाहिए. 100 प्रभावशाली लोगों की अंतिम अधिकारिक लिस्ट का फैसला टाइम मैगजीन के एडिटर्स द्वारा किया जाएगा और फाइनल लिस्ट का ऐलान 20 अप्रैल को होगा.

लेकिन साल 2016 के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते हैं और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उनके समर्थकों की संख्या भी जबरदस्त है. उन्होंने इस दौड़ में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा को भी पीछे छोड़ दिया है. एक सर्वे के मुताबिक पीएम मोदी को सोश्ल मीडिया पर सबसे ज़्यादा पसंद किया जाता है.

पीएम मोदी का अपना एक मोबाइल एप्लीकेशन भी है, जो अभी तक 20 लाख लोगों द्वारा कई बार डाउनलोड किया जा चुका है। और आपको जानकार हैरानी होगी कि इतनी बड़ी संख्या में किसी भी नेता या राष्ट्र अध्यक्ष का ऐप डाउनलोड नहीं किया गया है. मोदी के सोशल मीडिया के इंटरेक्शन को इसी बात से समझा जा सकता है कि हर महीने फेसबुक पर लाइक्स, शेयर और कमेंट्स के जरिये करीब चार करोड़ लोग उनसे जुड़ते हैं. इन सब के बावजूद टाइम मैगज़ीन के ऑनलाइन सर्वे में एक भी वोट नहीं पड़ने से मोदी समर्थक खासे निराश हैं.

रविवार आधी रात को बंद हुआ मतदान

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा तथा कई लोगों के खिलाफ अशिष्ट टिप्पणियां करने वाले रॉड्रिगो दुतेर्ते को रविवार आधी रात को बंद हुए मतदान में ‘हां’ में पांच प्रतिशत वोट मिले.  साल 2016 में फिलीपींस के राष्ट्रपति दुतेर्ते ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ अन्य वैश्विक नेताओं के खिलाफ टिप्पणी की थी. इतना ही नहीं अमेरिका के राष्ट्रपति ओबामा के खिलाफ तो उन्होंने निंदनीय टिप्पणी करते हुए भद्दी गाली तक दी थी.

मोदी का नाम भी सर्वाधिक प्रभावशाली व्यक्तियों की वार्षिक सूची में संभावित उम्मीदवार के तौर पर शामिल किया गया था, हालांकि उनके पक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा.

पोल में दिखाया गया कि मोदी के साथ ही माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नाडेला, इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, वाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर, अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी इवांका और उनके पति जेरड कुश्नर के पक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा.
यह भी पढ़ें- चर्चा का विषय बन गया है एक व्यक्ति को पीएम मोदी का दिया जवाब

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*