रामविलास बने देश के अगले राष्ट्रपति : मांझी

Ram Vilas Paswaan

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने किसी दलित को राष्ट्रपति बनाने की मांग की है. उन्होंने इसके लिए रामविलास पासवान का नाम सुझाया है. आपको बता दें कि वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल समाप्त होने जा रहा है. ऐसे में देश का अगला राष्ट्रपति कौन होगा. इसके लिए सभी राजनीतिक पार्टियों में चर्चा शुरू हो चुकी है. केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की छवि साफ़ सुथरे नेताओं की रही है. वो देश में कई पार्टियों की सरकारों  में अहम पद संभाल चुके हैं. वो हमेशा दलित के उत्थान की वकालत करते रहे हैं. 

वहीं कोई मुस्लिम राष्ट्रपति की वकालत कर रहा है तो कोई दलित नेता के राष्ट्रपति बनाये जाने की मांग कर रहा है.  अगर राष्ट्रपति पद के लिए प्रबल दावेदारों की बात की जाए तो लाल कृष्ण आडवाणी का नाम सबसे आगे आ रहा है. काफी लम्बे समय तक पीएम इन वेटिंग रहने वाले आडवाणी को मोदी सरकार की कैबिनेट में कोई मंत्रालय तक नहीं दी गई. इसके पीछे चर्चा यह रही है कि बीजेपी शायद लाल कृष्ण आडवाणी को देश का अगला राष्ट्रपति बनाना चाहती है. 

वहीं मांझी के समर्थन में राबड़ी देवी और मायावती भी हैं. उनका भी मानना है कि कोई दलित नेता ही देश का राष्ट्रपति बने. लेकिन इस बीच शिवसेना ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का नाम आगे रख दिया है. जिसके बाद से कई तरह की अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं. वैसे मांझी द्वारा राम विलास पासवान का नाम आगे रखने से NDA में यह बड़ा मुद्दा बन सकता है.  अगर दलित नेता पर पार्टियों की सहमति बनती है तो एक बार फिर आडवाणी  के सपनों पर पानी फिर सकता है.

यह भी पढ़ें-  रामविलास पासवान के बयान से आहत दिव्यांगों ने फाड़ डाला अपना सर्टिफिकेट, आंखों में आँसू

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*