आंगनबाड़ी से चावल बरामद मामले की होगी जांच, डीएम ने बनायी टीम

पटना : बाढ़ अनुमंडल के बख्तियारपुर प्रखंड में कालाबाजारी का चावल बरामद होने को जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है. मामले में पटना डीएम संजय अग्रवाल के निर्देश पर बाढ़ एसडीएम सुब्रत सेन ने जांच टीम का गठन किया है. एसडीएम ने बाढ़ अनुमंडल के सहायक आपूर्ति पदाधिकारी के नेतृत्व में जांच टीम बनाई है.

बाढ़ के सहायक आपूर्ति पदाधिकारी के नेतृत्व में सात प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों को जांच के काम में लगाया गया है. एसडीएम ने बताया कि जांच टीम को बख्तियारपुर नगर पंचायत के पच्चीस जन वितरण दुकानों और मंझौली पंचायत के तीन दुकानों की जांच को कहा गया है. टीम के सदस्य दुकानों की जांच में जुट गए हैं.

patna

मामले में जानकारी देते हुए एसडीएम सुब्रत सेन ने बताया कि जांच टीम को दुकानदारों के उठाव और वितरण स्टॉक की जांच के लिए कहा गया है. दिसंबर महीने में अनाज का उठाव करने वाले जन वितरण प्रणाली के 28 दुकानदार जांच टीम के राडार पर हैं. जिन 28 दुकानदारों ने दिसंबर महीने में अनाज का उठाव किया था उनके उठाव पंजी, वितरण पंजी और कूपन की जांच को कहा गया है. उन्होंने बताया कि जिन सरकारी राशन दुकानदारों के उठाव और वितरण पंजी में अनियमितता पाई जाएगी उनके खिलाफ कार्रवाई होगी.

गौरतलब है कि मंगलवार को बाढ़ एसडीएम द्वारा बख्तियारपुर में की गयी छापामारी में 191 बोरा सरकारी चावल बरामद किया गया था. जन वितरण प्रणाली के इस चावल को स्थानीय आंगनबाड़ी केंद्र में रखा गया था.

छापे की जानकारी देते हुए एसडीएम सुब्रत सेन ने बताया कि बख्तियारपुर प्रखण्ड के करनौती गांव में कालाबाजारी चावल को स्टॉक किए जाने की सूचना मिली थी. आंगनबाड़ी केंद्र के लिए बनाए जा रहे भवन में कालाबाजारी का चावल रखा गया था. कुल 191 बोरे सरकारी चावल की जब्ती हुई थी. बख्तियारपुर के एमओ अरविंद दुबे के बयान पर मामला दर्ज किया गया है. आंगनबाड़ी केंद्र के लिए भवन बनाने वाले ठेकेदार की संलिप्तता की भी जांच होगी.

यह भी पढ़ें :

SSP In Action: ड्यूटी से गायब सिपाहियों को एसएसपी मनु महाराज ने दी अनूठी सजा

जगदीशपुर-हल्दिया पाईपलाइन परियोजना का अलाइनमेंट ग्रामसभा द्वारा ख़ारिज

पेड़ से लटका मिला युवक का शव

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*