सैल्यूट सुप्रीत : पति की मौत के बाद भी बहादुरी से निभायी जिम्मेवारी

Supreet

लाइव सिटीज डेस्क : सैल्यूट सुप्रीत. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कुछ ऐसा ही लिखा है टीवी एंकर सुप्रीत कौर के बारे में. सीएम डॉ रमन सिंह ने ​ही नहीं, उनके इस गम से पूरा देश मर्माहत है और सुप्रीत कौर की हिम्मत की दाद दे रहा है. जिस तरह टीवी एंकर सुप्रीत कौर पति की ही मौत की खबर को ब्रेकिंग में पढ़ती रही, सच में किसी बहादुरी से कम नहीं है. सोशल मीडिया पर भी सुप्रीत की बहादुरी की लोग प्रशंसा कर रहे हैं और लिख रहे हैं कि इस महिला एंकर से लोगों को सीखने की जरूरत है.

गौरतलब है कि हर्षद की पत्नी सुप्रीत कौर रायपुर के एक टीवी न्यूज चैनल में एंकर व सीनियर असिस्टेंट प्रोड्यूसर हैं. वह सुबह में जब न्यूज बुलेटिन पढ़ रही थी, तो कार एक्सीडेंट की खबर आयी. इसमें तीन सवारों की मौके पर मौत का जिक्र था. हालांकि, खबर पढ़ने के दौरान मृतकों की पहचान नहीं हुई थी, लेकिन गाड़ी के ब्यौरे, मरने वालों के हुलिए के आधार पर सुप्रीत को आभास हो गया कि यह वही डस्टर कार है, जिससे उसके पति हर्षद दोस्तों के साथ सराईपाली गये थे. वह अंदर ही अंदर दहशत में आ गयी थी. इसके बाद भी उन्होंने पूरा समाचार पढ़ा और बुलेटिन खत्म हाेते ही उनकी आंखें भर आयीं. बदहवासी की हालत में लड़खड़ाती जुबान से बस हर्षद की खोज खबर लेती रहीं.

Supreet

खास बात कि न्यूज बुलेटिन में खबर पढ़ने के दौरान पति की गाड़ी का नंबर आया, लेकिन बड़ी हिम्मत के साथ उन्होंने खबर पढ़ी. जानकारी के बाद भी डेस्क हेड उनके पास न्यूज भेजते रहे, लेकिन मृतकों के नाम नहीं भेजे जा रहे थे. जबकि, यह जानकारी न्यूज रूम में आ चुकी थी कि पिथौरा के पास सड़क हादसे में सुप्रीत के पति हर्षद गावड़े, दुर्ग सांसद के प्राइवेट सेक्रेटरी प्रेमशंकर के बेटे गौरव साहू और निशांत वकील की मौत हो चुकी है. चैनल के वरिष्ठ संपादक के मुताबिक, पति की मौत की पुष्टि होने के बाद भी सुप्रीत को यह बताने की हिम्मत किसी में नहीं थी. वे कहते हैं कि हम सुप्रीत की हिम्मत की दाद देते हैं कि आभास होने के बाद भी उसने ढांढस बांधे रखा. गौरतलब है कि सुप्रीत और हर्षद की शादी करीब दो साल पहले ही हुई थी.

Supreet

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह भी इस घटना से काफी मर्माहत हैं, लेकिन साथ ही सुप्रीत की बहादुरी को सलाम भी करते हैं. वे ट्वीट पर लिखे हैं – Salute Supreet’s strength in dealing with her husband’s demise with extraordinary bravery and professionalism. May departed soul rest in peace… तुम्हारी हिम्मत व बहादुरी को सलाम. उधर पत्रकार अमिताभ श्रीवास्तव लिखते हैं – ‘पत्रकारों को गाली देने वालों को इस महिला एंकर सुप्रीत कौर की कहानी से शायद कुछ सबक मिले, जिन्होंने पेशेवर ज़िम्मेदारी की मिसाल कायम करते हुए एक सड़क हादसे में अपने पति की मौत की खबर को भी अपनी भावनाओं पर काबू पाते हुए सहज ढंग से पढ़ा.’ इसी तरह रोहित ने फेसबुक पर लिखा, ‘सुप्रीत कौर के जज़्बे को सलाम करते हैं. भगवान ऐसे वक्त में सुप्रीत को शक्ति दे…’

इसे भी पढ़ें : महिला एंकर ने पढ़ी एक मौत की ख़बर, मृतक उसका पति था..!

इधर वैशाली नगर भिलाई निवासी 24 साल के सौरभ यादव और प्रगति नगर भिलाई निवासी विवेक सिंह (32) पिता वीरेंद्र प्रताप सिंह गंभीर रूप से घायल हैं. गौरतलब है कि महासमुंद के पास पिथौरा में सड़क हादसे में तीन दोस्तों की मौत हो गयी थी. इनमें से एक सुप्रीत के पति हर्षद भी थे. वहीं घटना अलसुबह होने के कारण पुलिस को इसकी जानकारी एक घंटे बाद मिली. जब तक घटनास्थल तक पुलिस पहुंची, तब तक तीनों युवक दम तोड़ चुके थे. बता दें कि जहां दुर्घटना हुई, वहां फोरलेन का काम चल रहा है. इसकी वजह से यहां पर सड़क जर्जर होने के साथ काफी खराब है. एक्सीडेंट इतना जबर्दस्त था कि गाड़ियों के परखच्चे उड़ गये.

Supreet

Supreet

Supreet

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*