ऐसे उतारें बच्चों की नज़र

ऐसा अक्सर होता होगा जब बच्चे का बिना वजह भी रो—रोकर बुरा हाल हो जाता है. लाख उपाय के बावजूद वह चुप होने का नाम नहीं लेता है. उसे न खाने की रूचि होती है और न ही पीने की ही. वह न किसी के गोद में रहना पसंद करता है और न ही खेलना. त​ब घर के बड़े—बुजुर्ग यह कहते हैं कि बच्चे को किसी का नजर लग गई है. नजर अपनों का भी लगती है. बच्चों के लिए कही गई किसी अच्छी बात से भी नजर लग जाती है. वहीं हम यह भी देखते हैं कि नजर उतारते ही बच्चा थोड़ी ही देर में हंसने बोलने लग जाता है. आइए जानते हैं कि बच्चों को अगर किसी की नजर लग जाए तो कैसे उतारी जाती है नजर-

नजर उतारने के उपाय:-

  • बच्चे ने दूध पीना या खाना छोड़ दिया हो, तो रोटी या दूध को बच्चे पर से ‘आठ’ बार उतार के कुत्ते या गाय को खिला दें.
  • नमक, राई के दाने, पीली सरसों, मिर्च, पुरानी झाडू का एक टुकड़ा लेकर ‘नजर’ लगे व्यक्ति पर से ‘आठ’ बार उतार कर अग्नि में जला दें. ‘नजर’ लगी होगी, तो मिर्चों की धांस नहीँ आयेगी.
  • जिस व्यक्ति पर शंका हो, उसे बुलाकर ‘नजर’ लगे व्यक्ति पर उससे हाथ फिरवाने से लाभ होता है.
  • पश्चिमी देशों में नजर लगने की आशंका के चलते ‘टच वुड’ कहकर लकड़ी के फर्नीचर को छू लेता है. ऐसी मान्यता है कि उसे नजर नहीं लगेगी.
  • गिरजाघर से पवित्र-जल लाकर पिलाने का भी चलन है.

  • इस्लाम धर्म के अनुसार ‘नजर’ वाले पर से ‘अण्डा’ या ‘जानवर की कलेजी’ उतार के ‘बीच चौराहे’ पर रख दें. दरगाह या कब्र से फूल और अगर-बत्ती की राख लाकर ‘नजर’ वाले के सिरहाने रख दें या खिला दें.
  • एक लोटे में पानी लेकर उसमें नमक, खड़ी लाल मिर्च डालकर आठ बार उतारें. फिर थाली में दो आकृतियाँ- एक काजल से, दूसरी कुमकुम से बनाएं. लोटे का पानी थाली में डाल दें. एक लम्बी काली या लाल रंग की बिन्दी लेकर उसे तेल में भिगोकर ‘नजर’ वाले पर उतार कर उसका एक कोना चिमटे या सँडसी से पकड़ कर नीचे से जला दें. उसे थाली के बीचो-बीच ऊपर रखें. गरम-गरम काला तेल पानी वाली थाली में गिरेगा. यदि नजर लगी होगी तो, छन-छन आवाज आएगी, अन्यथा नहीं.
  • एक नींबू लेकर आठ बार उतार कर काट कर फेंक दें.
  • चाकू से जमीन पर एक आकृति बनाएं. फिर चाकू से ‘नजर’ वाले व्यक्ति पर से एक-एक कर आठ बार उतारता जाए और आठों बार जमीन पर बनी आकृति को काटता जाए.
  • गो-मूत्र पानी में मिलाकर थोड़ा-थोड़ा पिलाएं और उसके आस-पास पानी में मिलाकर छिड़क दें. यदि स्नान करना हो तो थोड़ा स्नान के पानी में भी डाल दें.

  • थोड़ी—सी राई, नमक, आटा या चोकर और 3, 5 या 7 लाल सूखी मिर्च लेकर, जिसे ‘नजर’ लगी हो, उसके सिर पर सात बार घुमाकर आग में डाल दें. ‘नजर’-दोष होने पर मिर्च जलने की गन्ध नहीं आती.
  • पुराने कपड़े की सात चिन्दियाँ लेकर, सिर पर सात बार घुमाकर आग में जलाने से ‘नजर’ उतर जाती है.
  • झाडू को चूल्हे / गैस की आग में जला कर, चूल्हे / गैस की तरफ पीठ कर के, बच्चे की माता इस जलती झाडू को 7 बार इस तरह स्पर्श कराए कि आग की तपन बच्चे को न लगे. तत्पश्चात् झाडू को अपनी टागों के बीच से निकाल कर बगैर देखे ही, चूल्हे की तरफ फेंक दें. कुछ समय तक झाडू को वहीं पड़ी रहने दें. बच्चे को लगी नजर दूर हो जायेगी.
  • नमक की डली, काला कोयला, डंडी वाली 7 लाल मिर्च, राई के दाने तथा फिटकरी की डली को बच्चे या बड़े पर से 7 बार उबार कर, आग में डालने से सबकी नजर दूर हो जाती है.
  • फिटकरी की डली को, 7 बार बच्चे/बड़े/पशु पर से 7 बार उबार कर आग में डालने से नजर तो दूर होती ही है, नजर लगाने वाले की धुंधली-सी शक्ल भी फिटकरी की डली पर आ जाती है.
  • तेल की बत्ती जला कर, बच्चे/बड़े/पशु पर से 7 बार उबार कर दोहाई बोलते हुए दीवार पर चिपका दें. यदि नजर लगी होगी तो तेल की बत्ती भभक-भभक कर जलेगी. नजर न लगी होने पर शांत हो कर जलेगी.

एक अन्य विधि

“टोना-टोना कहाँ चले? चले बड़ जंगल. बड़े जंगल का करने ? बड़े रुख का पेड़ काटे. बड़े रुख का पेड़ काट के का करबो ? छप्पन छुरी बनाइब. छप्पन छुरी बना के का करबो ? अगवार काटब, पिछवार काटब, नौहर काटब, सासूर काटब, काट-कूट के पंग बहाइबै, तब राजा बली कहाईब.”

विधि- ‘दीपावली’ या ‘ग्रहण’-काल में एक दीपक के सम्मुख उक्त मन्त्र का २१ बार जप करे. फिर आवश्यकता पड़ने पर भभूत से झाड़े, तो नजर-टोना दूर होता है.

ज्योतिषाचार्य प्रशांत कुमार

               संपर्क सूत्र: 8100778339              

     ई—मेल:[email protected]

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*