फुलवारीशरीफ में मवेशियों से लोडेड ट्रक जब्त, दो अरेस्ट

पटना(अजीत) : फुलवारीशरीफ में वर्षों से प्रशासन की नाक के निचे चल रहे अवैध बूचडखानों पर अब प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में बुधवार की आधी रात टमटम पड़ाव के पास मवेशियों से लोडेड ट्रक पुलिस ने पकड़ा. इसके साथ ही पुलिस ने ट्रक चालक और खलासी को भी गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने पकड़े गये मवेशियों को ट्रक समेत थाने भेज दिया. इसकी जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में कसाई मुहल्ले के कारोबारी थाना में इकट्ठा हो गए. कारोबारी मामला सलटाने में जुटे रहे लेकिन पुलिस ने एक न सुनी. आखिरकार कारोबारियों को बैरंग लौटना पड़ा.

पुलिस बरामद मवेशियों को पशु संरक्षण से सम्बंधित विभाग को भेजने की तैयारी में जुटी है. ट्रक चालक और खलासी को गिरफ्तार कर जेल भेजा रहा है. पुलिस ने शहर में वर्षों से चल रहे वैध और अवैध बूचड़खाने का सर्वे कराने के लिए सम्बंधित अधिकारियों को लिखित निर्देश दिया है.

फुलवारीशरीफ शहर में चौराहा के पास कसाई मुहल्ला, संगी मस्जिद, लाल मियां की दरगाह, खलीलपूरा, नया टोला, कर्बला, ईसापुर समेत अन्य इलाकों में सैंकड़ो बूचडखानें चलाए जा रहे हैं. जहां खुलेआम नियमों को ताक पर रखकर खुले में ही दुकाने चलती हैं. इन इलाके में बूचड़खाने की गंदगी से लोग कई तरह के रोगों का शिकार हो रहे हैं. बता दें कि बूचड़खानों के आस-पास के नागरिकों ने कई बार जिलाधिकारी से लिखित शिकायत भेजकर बूचड़खानों को बंद करने की भी मांग की है. लोगों के आवेदनों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई.

इस मामले पर ट्रेनी आईपीएस सह थानेदार योगेन्द्र कुमार ने बताया की बुधवार की आधी रात को टमटम पड़ाव के पास एक ट्रक पर लोडेड मवेशियों को पकड़ा गया. पूछताछ में ट्रक चालक सालिमपुर औद्योगिक क्षेत्र पटना निवासी मो सहजाद पिता मो कलाम खां और खलासी फुलवारीशरीफ के कचहरी मुहल्ला निवासी मो सोनू पिता मो हफीज को पूछताछ के बाद जेल भेजने की करवाई की जा रही है.

यह भी पढ़ें-

कोतवाली थाने ने होटल रुम पर करा रखा है कब्‍जा,सालों से खाली नहीं कर रहा

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*