सरकार का उत्पादन बढ़ाने पर जोरः कृषि मंत्री

पटना(अजीत) : राजधानी पटना के फुलवारीशरीफ में सोमवार को कृषि विभाग द्वारा बामेती, पटना के सभागार में दो दिवसीय (08-09 मई, 2017) राज्य स्तरीय खरीफ कर्मशाला का आयोजन किया गया. इसका उद्घाटन बिहार सरकार के कृषि मंत्री राम विचार राय ने दीप जलाकर किया. इस समारोह की अध्यक्षता बिहार कृषि विभाग के प्रधान सचिव सुधीर कुमार ने किया.
समारोह को सम्बोधित करते हुए राज्य के कृषि मंत्री राम विचार राय ने कहा की सरकार का कृषि उत्पादन बढ़ाने पर जोर है. इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा सस्ते दामों पर उन्नत बीज, पर्याप्त खाद, सिंचाई के साधन की उपलब्धता की लगातार समीक्षा की जाती है. उन्होंने कहा की इस बार मानसून के अच्छी और समय पर बारिश होने का अनुमान है. जिससे किसानों को पर्याप्त सींचाई उपलब्ध हो सकेगा. उन्होंने कहा की इस बार 106.30 लाख मे० टन चावल उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है.
उन्होंने कहा की कृषि उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए सरकार कई योजनाओं को सफलता पूर्वक चला रही है. राज्य में राजकीय बीज गुणन प्रक्षेत्रों में बीज उत्पादन का कार्यक्रम चलाया जा रहा है. मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना अंतर्गत 42,378 राजस्व गाँवों में 84,756 लाभुक किसानों के बीच 6 (छः) किलो प्रति किसान के अनुसार 5,085.36 क्विंटल तथा अरहर के लिए 28,796 राजस्व गाँवों में 57,592 किसानों के बीच 2 किलो प्रति किसान के अनुसार 1,151.84 क्विंटल आधार बीज वितरित किया जायेगा.
इस अवसर पर कृषि निदेशक हिमांशु कुमार राय ने बताया की खरीफ, 2017 में फसलों के उत्पादन एवं उत्पादकता बढ़ाने तथा सरकार की महत्त्वाकांक्षी योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुँचाने के लिए कर्मशाला के पहले दिन विभिन्न विषयों पर सुझाव प्राप्त करने हेतु मुख्यालय एवं क्षेत्रिय पदाधिकारियों, कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों, उपादान विक्रेताओं, प्रगतिशील किसानों को सम्मिलित किया गया. इस कर्यशाला के दूसरे दिन खरीफ, 2017 के लिए प्रशासनिक तैयारी पर विचार विमर्श एवं खरीफ फसलों से संबंधित प्रशिक्षण का आयोजन किया जायेगा.
खरीफ, 2017 में कृषि विभाग द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत प्रत्यक्षण कार्यक्रम एवं बीज वितरण कार्यक्रम में किसानों को अनुदानित दर पर धान के अधिक ऊपजशील, तनावरोधी प्रभेद, संकर प्रभेद तथा सुगंधित धान आदि के लिये 1,18,125 63 क्विंटल, संकर मक्का के प्रत्यक्षण एवं गैर पारंपरिक क्षेत्रों में बीज वितरण के लिये 12,636 क्विंटल, मुँग के लिये 9,92840 क्विं॰ तथा अरहर के लिये 2037 क्विं॰ बीज की आवश्यकता निर्धारित की गई है.
कार्यक्रम में  विशेष सचिव कृषि रवीन्द्र कुमार राय, निदेशक, उद्यान अरविन्दर सिंह, निदेशक, भूमि संरक्षण  गुलाब राय, निदेशक, पी॰पी॰एम॰ धन्नजयपति त्रिपाठी, निदेशक, बामेती  गणेश राम सहित विभागीय मुख्यालय एवं क्षेत्र के पदाधिकारीगण, कृषि विश्वविद्यालयों के वैज्ञानिकगण, नवाचारी किसान उपस्थित थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*