पटाखा दुकानें खुलने से उत्साह, नहीं दिखी सुरक्षा

पटना(प्रवीण कांत): राजधानी पटना में प्रशासनिक सख्ती से इस बार आतिशबाजी कारोबार को कड़ा झटका लगा. फिर भी दिवाली और स्टॉक में पड़े सामान को देखते हुए काफी जद्दोजहद के बाद पटाखा दुकानों को खोल दिया गया. दुकानें तो फिर से खुलीं लेकिन पटना सिटी की संकरी गलियों में चल रहे पटाखा कारोबार में सुरक्षा की दृष्टि से कोई खास व्यवस्था देखने को नहीं मिली. जहां किसी तरह की अनहोनी घटना होने पर एंबुलेंस का पहुंचना भी असंभव है. इसलिए कहीं न कहीं खतरे की आहट बनी रही.    

खूब हुई पटाखों की खरीददारी

कल तक जहां पटनासिटी की गलियां पटाखा दुकान बंद होने से विरान सी लग रही थीं वहीं अचानक दुकानें खुलने से लोगों में भी खूब उत्साह देखने को मिला. पटाखों की दुकानें लोगों की भीड़ से गुलज़ार दिखी. पटनावासियों ने खूब पटाखें खरीदें. रविवार को पटाखे दुकानों में कस्टमर्स की काफी भीड़ देखने को मिली.

बिना लाइसेंस की दुकानों को किया गया था सील

बता दें कि बिना लाइसेंस के अवैध ढंग से पटाखों की बिक्री और लगातार हो रही अगलगी की घटनाओं पर प्रशासन सख्त हुआ था. जिसके बाद पटनासिटी इलाके के कई पटाखा कारोबारियों के यहां छापेमारी कर दुकाने सील कर दी गई थी. कई कारोबारियों को जेल का रास्ता भी देखना पड़ा. जिसके बाद से ही पटाखों की मंडी के रूप में विख्यात पटनासिटी में पटाखा दुकाने बंद थी.

9

 

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*