फतवे का चैलेंज स्वीकार कर खुद ही गंजे हुए सोनू निगम

sonu-nigam

लाइव सिटीज डेस्क  : अपने अज़ान वाले बयान को लेकर विवादों में घिरे बॉलीवुड गायक सोनू निगम ने फतवा जारी होने के बाद सिर मुंडवा लिया है. दरअसल मुस्लिम नेता और पश्चिम बंगाल अल्पसंख्यक यूनाइटेड काउंसिल के उपाध्यक्ष सैयद शाह आतेफ अली कादरी ने मंगलवार को सोनू निगम के खिलाफ फतवा जारी किया था. कादरी ने कहा है कि जो कोई भी सोनू निगम को गंजा करेगा और पुराने जूते की माला पहनाएगा, उसे 10 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा. सिर मुंडवाने से पहले निगम ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी और फतवा जारी करने वाले कादरी को 10 लाख रुपये तैयार रखने का कहा. इसके साथ ही उन्होंने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर इस मामले में सफाई दी है.

उन्‍होंने कहा कि वो मुस्लिम विरोधी नहीं हैं और उन्‍होंने अज़ान पर नहीं बल्कि लाउडस्‍पीकर पर सवाल उठाया था. सोनू निगम ने यह भी साफ कर दिया कि ऐसा बयान उन्‍होंने सिर्फ मस्जिदों में इस्‍तेमाल होने वाले लाउडस्‍पीकरों के बारे में ही नहीं बल्कि मंदिर और गुरुद्वारे को लेकर भी दिया था.

sonu-nigam

वहीं फतवा जारी होने के बाद सोनू निगम ने अपना सिर भी मुंडवा लिया है.  सोनू निगम ने आगे कहा,’ जिस इंसान ने पूरी जिंदगी मोहम्‍मद रफी साहब को अपना पिता माना है, जिसके गुरू का नाम उस्‍ताद गुलाम मुस्‍तफा खान साहब हैं. उस इंसान के बारे में कोई ऐसा सोचे, कहे या तय करे कि वो मुस्लिम विरोधी है तो यह मेरी प्रॉब्‍लम नहीं है, ये आपकी प्रॉब्‍लम है.’

क्‍या है मामला

दरअसल, सोमवार को सुबह-सबुह सोनू निगम ने चार ट्वीट किये थे. उन्‍होंने लिखा था,’ ऊपरवाला सभी को सलामत रखे. मैं मुसलमान नहीं हूं और मुझे सवेरे अज़ान की वजह से जागना पड़ता है. भारत में कब तक ऐसी धार्मिक रीतियों को जबरदस्‍ती ढोना पड़ेगा.’ वहीं अपने ट्वीट पर लोगों के रियेक्‍शन का जवाब देते हुए उन्‍होंने लिखा,’ जब मोहम्‍मद ने इस्‍लाम की स्‍थापना की थी तब बिजली नहीं थी तो फिर एडिसन के अविष्‍कार के बाद ऐसे चोंचलों की क्‍या जरुरत है.’ उन्‍होंने आगे लिखा था कि,’ मैं ऐसे किसी भी मंदिर और गुरुद्वारे में यकीन नहीं रखता जो लोगों को जगाने के लिए बिजली का इस्‍तेमाल करते हैं जो धर्म में यकीन नहीं रखते. फिर क्‍यों? ईमानदारी से बताईए ? सच क्‍या है ?’ अपने एक और ट्वीट में उन्‍होंने लिखा,’ गुंडागर्दी है बस…’.

यह भी पढ़ें- सोनू निगम का अज़ान पर ट्वीट, सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*