इंसाफ का दूसरा राष्ट्रीय सम्मेलन संपन्न

पटना : आॅल इंडिया तंजीम-ए-इंसाफ का तीन दिवसीय दूसरा राष्ट्रीय सम्मेलन मंगलवार को संपन्न हो गया. मंगलवार को सम्मेलन के अंतिम दिन साम्प्रदायिक भेदभाव एवं दंगा मुक्त भारत का निर्माण विषय पर सेमिनार का आयोजन किया. सेमिनार में अपने विचार रखते हुए सूबे के वित मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि आज देश में संविधान का हर नेता व अभिनेता कसम खाते हैं, लेकिन मानता कोई नहीं है. संविधान की प्रस्तावना में सेकुर्लरिज्म की बात की गई है. संविधान की शपथ खाने वाले लोग जो आज सरकार में बड़े ओहदे पर बैठे हैं वो कहते हैं सेकुर्लरिज्म विदेशी शब्द है. सेकुर्लरिज्म की बात करने पर वे लोगों को राजनीति करने का आरोप लगाते हैं.

उन्होंने कहा कि जिन लोगों का सेकुर्लरिज्म के नाम पर हाथपाव फुलने लगता है वो आजादी के आंदोलन में एक घंटे के लिए भी जेल नहीं गए. आज देश में दो विचारधारा है. एक कहता है यह देश उनकी बपौती है. वहीं दूसरी विचारधारा यह मानती है कि यह देश वैसे करोड़ों मेहनतकश जनता का है जो इस देश की तरक्की के लिए खुन पशीना बहा रहा हैं. आज वैसे संगठन के लोग देशभक्ति का प्रमाण पत्र बांट रहे हैं और उनका जो मुखालफत करें उसे देशद्रोही कह रहे हैं. देश में विचारों की लड़ाई है. धर्म की लड़ाई नहीं है. जो संविधान को मान रहा है वो राष्ट्रभक्त है और जो संविधान को नहीं मानते वो राष्ट्रद्रोही हैं.whatsapp-image-2016-12-07-at-10-07-55-am

सेमिनार के मुख्य वक्ता भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अंजान ने कहा कि आज जो लोग संसद नहीं चलने देने का रोना रो रहे हैं वहीं लोग 213 दिनों तक संसद नहीं चलने दिया. आज सबसे बड़ी चिंता है कि देश के आईने पर हमला हो रहा है. यह देश जितना हिन्दुओं का है उतना ही मुस्लमानों, सिख, इसाई, पारसी, बौद्ध व जैन सभी का है. आज देश में पिने का पानी भी छीना जा रहा है. आपके एक वक्त की रोटी की किमत भी सरकार तय करती है और वोट देकर सरकार बनाते है तो आप सियासत से अलग कैसे हो सकते हैं. सेमिनार में विषय प्रवेश न्यू एज के संपादक शमीम फैजी ने कराया. धन्यवाद ज्ञापन में स्वागत समिति के महासचिव विधायक शकील अहमद खां ने कहा कि आज देश में अल्पसंख्यकों पर हमले बड़े हैं सभी लोगों को एकजुट होकर इसके खिलाफ लड़ने की जरूरत है.

इंसाफ के राष्ट्रीय कमेटी का हुआ चुनाव 
स्वागत समिति के महासचिव इरफान अहमद ने बताया कि आज सांगठनिक सत्र के दौरान संगठन के राष्ट्रीय कमेटी का चुनाव हुआ जिसमें पूर्व राज्यसभा सांसद अजीज पाशा को राष्ट्रीय अध्यक्ष, डाॅ. अयूब अली खां को राष्ट्रीय महासचिव, वहीं शमीम फैजी, पूर्व सांसद अप्पा दूर्रई व मोहीउर रहमान को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चुना गया. इसके अलावा इफ्तेखार महमूद, राहिला परवीण को राष्ट्रीय सचिव चुना गया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*