दानापुर कैंट क्षेत्र से गुजरने पर आज से टोल टैक्स

पटना : रोज की तरह दानापुर कैंट से गुजरने वाली मालवाहक गाड़ियों के लिए निशुल्क एंट्री बंद कर दी गई है. अब आज सोमवार से दानापुर छावनी क्षेत्र से गुजरने पर मालवाहक वाहनों को टैक्स देना होगा. 

यह टोल टैक्स इंट्री फीस के रूप में लिया जाएगा. छावनी परिषद ने मालवाहक गाड़ियों के लिए फीस तय  कर दी है. छावनी क्षेत्र में यह पहली बार हुआ है कि इस क्षेत्र से गुजरने वाली गाड़ियों पर एंट्री शुल्क लगा दी गई है.

छावनी परिषद प्रशासन ने इस संबंध में नोटिस जारी कर दिया है. इसके अनुसार छावनी क्षेत्र से गुजरने वाले मालवाहक वाहनों से सोमवार से इंट्री फीस वसूली जाएगी.

परिषद के मुख्य अधिशासी पदाधिकारी विनीत कुमार ने बताया कि मालवाहक वाहनों में ट्रक और ट्रैक्टरों के अलावा अन्य तीन पहिया और चारपहिया वाहनों से इंट्री फीस ली जायेगी. हालांकि निजी वाहनों से वसूली नहीं होगी. आमलोगों को परेशानी नहीं हो, इसलिए सिर्फ मालवाहक वाहनों से फीस वसूली होगी. यात्रियों को लेकर चलने वाले ऑटो इसमें शामिल नहीं हैं. हालांकि, मालवाहक ऑटो से इंट्री फीस ली जाएगी. 

छावनी क्षेत्र में टोल टैक्स वसूली के लिए पांच सेंटर बनाए गए हैं. विनीत कुमार ने बताया कि पीर बाबा के पास, ईमलीतल मोड़, हाथी खाना मोड़, आनंद बाजार तुरहा टोली और पीपा पुल मार्ग पर टोल टैक्स सेंटर बनाया गया है.

जानकारी के अनुसार, मध्य कमान, लखनऊ के दिशा-निर्देश पर यह निर्णय छावनी परिषद की बोर्ड बैठक में लिया जा चुका है. करीब चार माह पहले ही टोल टैक्स वसूली का निर्णय किया गया था. इसका टेंडर भी हो चुका है. लेकिन विरोध को देखते हुए इसकी घोषणा नहीं की जा रही थी. अब सोमवार से शुरू होने के बाद इसके विरोध की आशंका है. 

बता दें कि देश के अधिकांश छावनी परिषद में मालवाहक वाहनों से इंट्री फीस ली जाती है. मेरठ, आगरा सहित देश के कई बड़े छावनी क्षेत्र में पहले से ही व्यावसायिक वाहनों से टोल टैक्स की वसूली होती है.

दानापुर छावनी क्षेत्र में मालवाहक गाड़ियों से टोल टैक्स लेने से बोर्ड को सालाना एक करोड़ 49 हजार रुपये की आय होगी. वरीय अधिकारी बार-बार छावनी बोर्ड और उसके खर्च को चलाने के लिए मालवाहक वाहनों से इंट्री फीस लगाने बात कह रहे थे. इसे देखते हुए निर्णय लिया गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*