बिहार कैडर के IPS राजेश रंजन बने CISF के डायरेक्टर जनरल

IPS-RAJESH
IPS राजेश रंजन (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार को एक और बड़ी जिम्मेदारी मिल गई है. मूल रूप से बिहार के रहने वाले भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी राजेश रंजन को अब केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) की कमान सौंपी गई है. उन्हें आज मंगलवार 10 अप्रैल को CISF का डायरेक्टर जनरल नियुक्त किया गया है. भारत सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ़ पर्सनल एंड ट्रेनिंग (DoPT) ने इसके लिए अधिसूचना जारी कर दी है. राजेश रंजन अभी फिलहाल बॉर्डर सिक्यूरिटी फ़ोर्स (BSF) के अतिरिक्त महानिदेशक (ADG) के पद पर तैनात थे.

बता दें कि राजेश रंजन बिहार कैडर के 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हें. अभी वे केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हें. आईपीएस राजेश रंजन का नाम हाल ही में तब सामने आया था, जब पी के ठाकुर के बाद बिहार के नए DGP की खोज हो रही थी. उस वक़्त भी उनका सामने DGP पद के दावेदारों में सामने आया था. हालांकि बाद में के एस द्विवेदी को यह जिम्मेदारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दी थी.

अधिसूचना

कौन हैं IPS राजेश रंजन

लंबे अरसे से राजेश रंजन भारत सरकार की सेवा में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं. BSF में तैनाती के पहले GAIL में चीफ विजिलेंस ऑफिसर (CVO) थे. वे काफी कड़क ऑफिसर माने जाते हैं.

देश के सभी महत्वपूर्ण स्थानों की सुरक्षा है CISF के जिम्मे

केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) 1969 में अस्तित्व में आया था. आज इसके पास करीब 1.5 लाख जवान हैं, जो देश की कुछ बेहद महत्वपूर्ण इमारतों-सरकार-गैर सरकारी कार्यालयों और अन्य राष्ट्रीय महत्त्व के संस्थानों की रक्षा करते हैं. CISF के हवाले आज देश भर के सभी एयरपोर्ट और बंदरगाहों की सुरक्षा की कमान है. इनके अलावे परमाणु संस्थापनाओं, विद्युत संयत्रों, संवेदनशील सरकारी भवनों तथा विरासत स्मारकों को सुरक्षा कवच प्रदान कर रहा है. CISF को हाल ही में सौंपी गई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों में दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन, वीआईपी सुरक्षा, आपदा प्रबंधन तथा हैती में यूएन की फार्म्ड पुलिस यूनिट की स्थापना शामिल है.

तेजस्वी यादव से सीबीआई की पूछताछ पर आरजेडी नेताओं ने पीएम मोदी को तीखा हमला बोला है…देखें वीडियो में…

वीडियो : #हाजीपुर में #आरक्षण विरोधियों ने केंद्रीय मंत्री #उपेंद्रकुशवाहा के साथ हाथापाई की, पीटने की कोशिश की…