जैन जा रहे हैं CBI में, पांच IPS को नहीं मिलेगी जिलों में SP की पोस्टिंग

पटना : बिहार में अभी कई और आईपीएस अधिकारियों के स्‍थानांतरण-पदस्‍थापन होंगे. खबर है कि कटिहार के एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन का सीबीआई में जाना तय हो गया है. केन्‍द्र सरकार ने जैन की नियुक्ति सीबीआई में किये जाने के प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है. बिहार सरकार भी जैन को विरमित कर देने को सहमत है. जल्‍द ही कटिहार को नया एसपी मिल जाएगा. जैन 2006 बैच के आईपीएएस आफिसर हैं.

studio11

पुलिस हेडक्‍वार्टर के सूत्र बता रहे हैं कि सीवान के एसपी सौरव कुमार साह के केन्‍द्रीय प्रतिनयिुक्ति पर जाने का मामला अभी लटक गया है. वे 2009 बैच के आईपीएस हैं. पहले यह चर्चा थी कि वे केन्‍द्रीय उर्जा मंत्री पीयूष गोयल के सेक्रेटेरिएट में प्रतिनियुक्ति पर जा रहे हैं. साह की पत्‍नी दूसरे काडर में आईएएस हैं.

बिहार सरकार ने 2005 बैच के आईपीएस जितेन्‍द्र राणा को भी केन्‍द्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की सहमति अभी प्रदान नहीं की है. राणा का तबादला पिछले दिनों मोतिहारी के एसपी के पद से समाज कल्‍याण विभाग के अपर सचिव के पद पर किया है. अपर सचिव का यह पद पुलिस संवर्ग का नहीं है. राणा पहले पटना के एसएसपी भी रह चुके हैं.

इन सबों के साथ हेडक्‍वार्टर के सूत्र बता रहे हैं कि सरकार पांच आईपीएस अधिकारियों के काम-काज और आचरण से बिलकुल खफा है. सिगनल स्‍पष्‍ट है कि इनके नामों पर अभी निकट भविष्‍य में जिलों के एसपी पद पर तैनाती के लिए विचार नहीं किया जाना है. इनमें 2006 बैच के एक आईपीएस हैं,जो अभी हाल में मुख्‍य मंत्री की बैठक में मोबाइल से खेलते दिखे थे. साथ में,इनके खिलाफ निजी जिंदगी के आचरण को लेकर भी गंदी शिकायत सरकार के पास पहुंची हुई है.

जिनके नामों पर विचार नहीं किया जाना है,उनमें बालू वाले जिले से स्‍थानांतरित एक एसपी भी हैं. लालू प्रसाद के प्रभाव वाले जिले में कुछ महीनों से पोस्टिंग थी. अभी हटाया गया है. बैच 2006 है. सरकार 2009 बैच के एक वैसे आईपीएस से भी गुस्‍साई हुई है,जिनका नाम औरंगाबाद के कार्यकाल को लेकर संदिग्‍ध हो गया माना जाता है. 2009 बैच के ही दूसरे एक और आईपीएस के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगा हुआ है. ‍ये भी निकट भविष्‍य में जिलों में एसपी की पोस्टिंग से अभी बाहर रहेंगे.

यह भी पढ़ें –
नई तस्‍वीरें : लड़कियों के साथ हाफ नेकेड हैं बिहार के IAS; चर्चा में BJP के MLA भी
मुंगेर पहुंच कर एक्साइटेड हैं विकास वैभव, इसी जिले से शुरू किया था कॅरियर
विकास वैभव सबसे पॉपुलर IPS अधिकारी बने बिहार में