INCOME TAX की टीम को देखते ही मची अफरा-तफरी, बोरे में नोट लेकर लगे भागने

पूर्णिया(राजेश कुमार झा): गुलाबबाग सनौली चौक स्थित व्यवसायी सुरेश भगत के घर व उनके घर के नीचे बने भुगतान कार्यालय के अलावे गुलाबबाग बाजार समिति के अंदर बने गद्दी में एक साथ आयकर विभाग की टीम के द्वारा सुबह 11 बजे छापेमारी की गई. बता दें कि सुरेश भगत आलू व प्याज के थोक व्यवसायी हैं और उनके द्वारा लगातार आयकर विभाग को समुचित कर का भुगतान नहीं किया जा रहा था. गुलाबबाग में जैसे ही आयकर विभाग के अधिकारियों के आने की सूचना फैली कि देखते ही देखते पूरा बाजार में सन्नाटा पसर गया.

स्वत: दुुकानें बंद हो गयी. खासकर गुलाबबाग मंडी में चावल पट‌टी, गल्लापट‌टी, आलू पट‌टी, मकईपट्टी समेत तमाम जगहों पर बड़े दुकानदारों के द्वारा शटर लगा दिया गया. आयकर विभाग की टीम ने जीएसटी और नोटबंदी लागू होने के बाद तीसरी बार गुलाबबाग में किसी कारोबारियों के यहां छापा मारा है. इसके पूर्व एक खाद व सीमेंट व्यवसायी तथा गुड व्यवसायी के दुकान पर छापा मारा था. सुरेश भगत का आलू व प्याज का आढत व गद्दी गुलाबबाग मंडी के अंदर है लेकिन लोगाें व व्यपारीयों को भुगतान वे अपने सनौली चौक स्थित अपने आवास के पास बने कार्यालय से करते हैं. बताया जाता है कि सुरेश भगत का गुलाबबाग आवास, मंडी समेत कई अन्य जगह बडे-बडे गोदाम बने हुए हैं. जहां से वे व्यापार करते हैं.

टीम को देखते ही झोला व बोरा लेकर भागने लगे थे मुंशी

गुलाबबाग बाजार समिति में बने सुरेश भगत की गद्दी गुरूवार की सुबह खुल गयी थी. सुबह 11 बजे जैसे ही गद्दी पर आयकर विभाग की टीम पहुंची, इसकी भनक गद्दी पर मौजूद मुंशी को लग गई और वे आनन फानन में गद्दी के अंदर रखे कागजात एवं नकदी लेकर भागने लगे. लेकिन मौके पर आयकर विभाग के टीम के साथ आए सुरक्षा जवानों ने उन्हें दबोच लिया. मौके पर ही आयकर विभाग की टीम ने मुंशी समेत दो स्टाफ को सामने बैठा कर खाता को खंगालना शुरू कर दिया.

इस मौके पर मौजूद आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सुरेश भगत के लेन-देन में काफी गड़बड़ी है और इसकी जांच -पड़ताल करने में 24 से 48 घंटे का वक्त लग सकता है. फिलहाल उन्होंने मौके पर कुछ भी बताने से इनकार किया.

आयकर की टीम को देखते ही बीमारी का बहाना बनाने लगा सुरेश

सनौली चौक स्थित सुरेश भगत के आवास पर आयकर विभाग की टीम सुबह 11 बजे पहुंच चुकी थी.टीम को देखते ही सुरेश भगत ने बीमारी का बहाना बनाकर बैठ गए. टीम के सदस्यों को कहने लगे कि वे काफी बीमार हैं. कुछ दिन पहले ही एम्स से ईलाज करवा कर लौटे हैं.  लेकिन आयकर विभाग की टीम के सामने सुरेश भगत की एक ना चली. सख्त लहजे में आयकर विभाग के अधिकारी ने कहा कि दवाई खा लीजिए और सही-सही जानकारी दीजिए.

हालांकि 2 घंटे का समय बीतने के बावजूद भी सुरेश भगत के द्वारा आयकर विभाग के अधिकारियों को कोई जानकारी नहीं दी और चुप्पी साधे रहे. हालांकि बताया जाता है कि बडे पैमाने पर टैक्स की हेराफेरी उनके द्वारा की गयी है और बडे स्तर पर विभाग के द्वारा उनपर पेनल्टी लग सकता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*