शंख बजाएं और हो जाएं रोग मुक्त, शंख बजाने के हैं कई लाभ, दूर होती हैं कई बीमारियां

लाइव सिटीज डेस्क : भारतीय संस्कृति में शंख का महत्व सर्वोच्च है. समुद्र मंथन से प्राप्त चौदह रत्नों में एक रत्न शंख है. माता लक्ष्मी के समान शंख भी सागर से उत्पन्न हुआ है, इसलिए इसे माता लक्ष्मी का भाई भी कहा जाता है. घर के पूजा स्थल पर शंख का महत्वपूर्ण स्थान रखता है. किसी कार्य की शुरुआत से पहले इसे बजाना शुभ माना जाता है. साथ ही मान्यता है कि महाभारत की शुरुआत भी श्री कृष्ण के शंखनाद से ही हुई थी.



अगर बात करें वास्तु से जुड़े इसके तथ्य की, तो माना जाता है कि इसे पूजा की जगह पर रखने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, जिससे घर में सुख-समृद्धि आती है. आज हम आपको शंख बजाने से आपके शरीर को मिलने वाले स्वस्थ्य लाभों के बारे में बताने जा रहे हैं.

दिल की बीमारी होने के आसार होते हैं कम

विज्ञान भी शंखनाद की उपयोगिता को मानता है. इसके उपयोग से फेफड़े स्वस्थ रहते हैं और दिल की किसी भी तरह की बीमारी का डर खत्म होता है. दरअसल, शंख बजाने से शरीर की सभी ब्लॉकेज खुल जाते हैं. जब बार-बार सांस भरकर शंख बजाय जाता है तो इससे फेफड़े क्रिया में आते हैं, जिससे दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम हो जाता है. साथ ही यह रक्तचाप की समस्या से भी निजात दिलाता है.

गले से जुड़ी कई परेशानियों से दिलाता है निजात

शंख बजाने से गले के मसल्स की एक्सरसाइज होती है. वोकल कार्ड और थाइरायड से जुड़ी समस्या में इससे फायदा होता है. हकलाहट की समस्या को दूर करने में भी ये लाभकारी है.

त्वचा से जुड़े रोगों में है फायदेमंद

रात में शंख में पानी भर कर रख लें. सुबह उसी पानी से त्वचा की नियमित मसाज करने से स्किन से जुड़े रोगों में फायदा होता है. साथ ही चेहरे की मसल्स की एक्सरसाइज होती है. झुर्रियों से बचाव होता है.

बाल झड़ने से रोकने में कारगर

रातभर शंख में रखे पानी में गुलाब जल मिलाकर बाल धोने से बाल काले, मुलायम और घने होते हैं. बाल झड़ने की समस्या भी दूर होती है.

कब्ज से मिलता है छुटकारा

शंख में रातभर रखे पानी को तीन चम्म्च सुबह खाली पेट पीने से कब्ज जैसी तकलीफों में फायदा होता है.

प्रोस्‍टेट मसल्स मजबूत

शंख बजाने से प्रोस्टेट मसल्स की एक्सरसाइज होती है और उनमें सूजन नहीं आती. यूरिनरी ब्लैडर की एक्सरसाइज होती है जो इससे सम्बंधित बिमारियों से आपका बचाव करता है.