चैत्र नवरात्र: आज है मां ब्रह्मचारिणी का दिन, ऐसे करें पूजा …

लाइव सिटीज डेस्क: चैत्र नवरात्र का पर्व शुरू हो गया है. आज मां के दुसरे रूप यानि देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा होती है. आपको बता दें कि इस बार ग्रीष्म चैत्र नवरात्रि 18 मार्च से शुरु होकर 25 मार्च तक चलेंगे. हिन्दू धर्म ग्रंथों में इन्हें मठ की देवी के रूप में माना गया है. सफेद साड़ी पहने हुए एक हाथ में रूद्राक्ष माला और एक में पवित्र कमंडल धारण करें हैं. देवी का यह रूप अत्यन्त धार्मिकता और भक्ति का है. मां ब्रह्मचारिणी को ज्ञान, तपस्या और वैराग्य की देवी माना जाता है. कठोर साधना और ब्रह्म में लीन रहने के कारण इनको ब्रह्मचारिणी कहा गया. छात्रों और तपस्वियों के लिए इनकी पूजा करनी चाहिए.

भगवती का दूसरे स्वरुप माता ब्रह्मचारिणी की आराधना से सभी कष्ट दूर हो जाते हैं और अभीष्ट कामनाओं की पूर्ति होती है. मां ब्रह्मचारिणी देवी की कृपा से सर्वसिद्धि प्राप्त होती है.

इस देवी की कथा का सार यह है कि जीवन के कठिन संघर्षों में भी मन विचलित नहीं करना चाहिए. माता ब्रह्मचारिणी की पूजा इस मंत्र से करें.

ये है पूजा विधि
कहते हैं कि मां ब्रह्मचारिणी की उपासना के समय पीले या सफेद वस्त्र ही पहनने चाहिए. मां ब्रह्मचारिणी को सफेद वस्तुएं अर्पित करें जैसे- मिश्री, शक्कर या पंचामृत. मां ब्रह्मचारिणी की पूजा के समय स्वाधिष्ठान चक्र पर ज्योति का ध्यान करें या उसी चक्र पर अर्ध चन्द्र का ध्यान करें. इससे मन में शांति बनी रहती है. मां की पूजा विधि के समय भक्त को “ऊं ऐं नमः” का जाप करना चाहिए और जलीय और फलाहार पर विशेष ध्यान देना चाहिए.

देखें वीडियो:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*