एक ऐसा मंदिर जहां होती है मुस्लिम महिला की पूजा

mandir-muslim

लाइव सिटीज डेस्क : गुजरात के अहमदाबाद से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर है ‘झूलासन’ गांव. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि हिंदू-मुस्लिम एकता के प्रतीक इस गांव में मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है. इसके पीछे एक दिलचस्प कहानी है. इस मंदिर को हिंदू-मुस्लिम एकजुटता का चिह्न भी माना जाता है.

मान्यता है कि सैकड़ों साल पहले ‘डोला’ नाम की एक मुस्लिम महिला ने उपद्रवियों से अपने गांव को बचाने के लिए वीरतापूर्वक लड़ाई लड़ी थी. युद्ध में अपने गांव की रक्षा करते हुए उसने अपनी जान दे दी थी. अपने गाँव के लिए उसका त्याग और समर्पण देख कर लोग अभिभूत हो गये.

अपने गाँव को बचाने के लिए वह वीरता से लड़ी. लेकिन उसे अपने प्राणों की आहुति देनी पड़ी. कहते हैं मरने के बाद उनका शरीर एक फूल में परिवर्तित हो गया. इस चमत्कार और बलिदान के चलते लोगों ने उस फूल के ऊपर ही उनके नाम से एक मंदिर का निर्माण कर दिया.

mandir-muslim

इस गांव के लोगों का मानना है कि ‘डोला’ आज भी हमारे बीच हैं और वह हमारे गांव की रक्षा ही नहीं करतीं, बल्कि लोगों के दु:ख-दर्द भी दूर करती हैं. इस मंदिर को ‘डॉलर माता’ का मंदिर भी कहा जाता है, क्योंकि इस गांव के लगभग 1,500 से अधिक निवासी अमेरिका के नागरिक हैं.

यह भी पढ़ें – विभिन्न ग्रहों से संबंधित दान, ग्रहों का उनके वार के अनुसार दान

सुनीता विलियम्स जब अंतरिक्ष यात्रा पर गईं तो उनकी सुरक्षित वापसी के लिए इस मंदिर में एक अखंड ज्योति जलाई गई थी, जो 4 महीने तक लगातार जलती रही थी.