घर में पेड़-पौधे लगाने से पहले जानिए वास्तु के अनुसार कौन सा पौधा है शुभ

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: हिंदू धर्म में पेड़ पौधों का विशेष महत्व होता है. एक तरफ जहां पेड़ पौधे से चारों तरफ का वातावरण साफ और सुंदर बनता है तो वहीं दूसरी तरफ यह व्यक्ति के जीवन में सुख-समृद्धि और भाग्य में चमत्कारी परिवर्तन भी लाता है. वास्तुशास्त्र के अनुसार घर पर पेड़ पौधे लगने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है. ऐसी मान्यता है कि पेड़- पौधें में देवताओं का निवास स्थान होता है. वास्तु के अनुसार घर पर तुलसी का पौधा, केले का पौधा और शमी का पौधा लगाने से शुभ फल की प्राप्ति होती है. वास्तुशास्त्र में जहां कुछ पौधों को लगाने से शुभ फल की प्राप्ति होती तो कुछ पेड़-पौधों को लगाना वर्जित माना गया है.

तुलसी: हिंदू धर्म में कोई भी धार्मिक अनुष्ठान या पूजा-पाठ का कार्यक्रम तुलसी के पत्तों के बिना पूरा नहीं माना जाता है. वास्तु के अनुसार तुलसी का पौधा घर से नकारात्मकता को दूर करता है. तुलसी के पौधे को घर की पूर्व दिशा या पूर्व-उत्तर दिशा में लगाना शुभ रहता है.



केले का पौधा: जितना तुलसी का महत्व पूजा पाठ में होता है उतना ही केले के पौधे का भी माना गया है. घर पर इस पौधे को लगाने पर मन शांत और सुख समृद्धि आती है. वास्तु शास्त्र के अनुसार केले का पेड़ को पूर्व-उत्तर दिशा में होना चाहिए.

आंवला: आंवले के पेड़ में भगवान विष्णु का निवास स्थान माना गया है. ऐसी मान्यता है कि इस पेड़ को लगाने से हर तरह के पाप का नाश हो जाता है और इच्छाएं पूरी होती है.

अशोक: अशोक के पेड़ से हर तरह के दोष खत्म हो जाते हैं और घर से नकारात्मकता दूर हो जाती है. इस पेड़ को घर के उत्तर दिशा में लगाना चाहिए.

पीपल का पेड़: हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ का विशेष महत्व होता है. पीपल के पेड़ में देवताओं और पितर देवों का वास माना जाता है. लेकिन वास्तु के अनुसार घर पर पीपल का पेड़ नहीं लगाना चाहिए. पीपल के पेड लगाने या उगने से दुर्भाग्य पैदा होता है. हालांकि घर के बाहर या मंदिर के आसपास पीपल के पेड़ को बहुत ही शुभ माना गया है. पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाने और दीपक जलाने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है इसके अलावा शनि दोष से छुटकारा भी मिलता है.