खाटू श्याम जी के दरबार में अब भक्तों को मिला आसरा, बन कर तैयार हो गया है ‘श्याम सागर’

Khatu-shayam
Khatu-shayam

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : राजस्थान के सीकर जिले में स्थित विश्वप्रसिद्ध श्री खाटू श्यााम जी के दरबार में हाजरी लगाने पहुंचनेवाले श्याम भक्तों को अब भगवान के शरण में एक आसरा भी मिल गया है. राजस्थान  के श्री खाटू धाम पहुंचनेवाले श्रद्धालुओं को अब श्याम जी के शरण में ही रहने के लिए आसरा मिल सकेगा, अब उन्हें दर्शन करने के बाद इधर-उधर भटकने की जरुरत नहीं पड़ेगी. खाटू श्याम जी के दर्शन को आए श्रद्धालु अब यहां के ‘श्याम सागर’ में ही विश्राम कर सकेंगे. इतना ही नहीं भक्तों के लिए यहां भोजन की भी उत्तम व्यवस्था रहेगी.

श्रद्धालुओं के दान और कृपा से बन तैयार हुआ ‘श्याम सागर’

आपको बता दे कि राजस्थान के सुप्रसिद्ध श्री खाटू श्याम जी महराज धाम में श्रद्धालुओं के दान और कृपा से ही अब भक्तों के लिए अतिथि भवन का निर्माण पूरा हो चुका है. इस अतिथि भवन का नाम “श्याम सागर’ रखा गया है. इस भवन के निर्माण के बाद अब यहां पहुंचने वाले भक्तों को विश्राम करने के लिए कहीं और नहीं भटकना पड़ेगा. अब वे श्यामजी  के दर्शन के बाद उनके ही शरण में उनकी छत्रछाया में अपना वक्त बिता सकेंगे.

khatu-shyam
khatu-shyam

 

आपको बता दें कि श्री खाटू श्याम धाम में बने इस अतिथि भवन का उद्घाटन श्री श्याम जी के आशीर्वाद से ही 12 दिसंबर 2018 को किया जा रहा है.  सांवरे सरकार ने “श्याम सागर’ पर अपनी पूरी कृपा बरसायी है. ये भवन आज के सभी अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण है. मंदिर प्रशासन की माने तो सांवरे के आदेश पर ही बुधवार, 12 दिसम्बर 2018 को वेदमंत्रों की गूंज के साथ ब्राह्मण देवों के द्वारा पूजन कार्य संपन्न किया जाएगा.

12 दिसंबर से खुलेगा श्रद्धालुओं  के लिए

12 दिसंबर से ही यह भवन यहां आनेवाले श्रद्धालुओं का विधिवत् “श्याम सागर’ में प्रवेश प्रारंभ हो जाएगा. यहां आनेवाले भक्त श्री खाटू श्याम जी के दर्शन के बाद अब उनकी शरण में ही आश्रय ले सकेंगे. मंदिर प्रशासन ने बताया है कि इस अविस्मरणीय अवसर पर बाबा का भव्य दरबार सजाया जाएगा. वहीं विख्यात गायकों को भी बुलाया गया है जो यहां आनेवाले भक्तों को अपने भजनों से आनंदित करेेंगे. साथ ही बाबा की उपस्थिति में ही न्यासियों का सम्मान किया जायेगा. इस शुभ घड़ी में खाटू श्याम जी के सभी भक्तो के लिए यहां के भण्डारे में बने अमृतभोज का भी व्यवस्था है.

कौन हैं खाटू श्याम जी महाराज?

खाटूश्यामजी का दरबार राजस्थान के सीकर जिले के में स्थित है. बता दे कि खाटू नाम से राजस्थान में तीन गाँव हैं – (1) जोधानी की खाटू, (2) चांपावती की खाटू (ये क्रमशः छोटी व बड़ी खाटू कहलाते हैं तथा जोधपुर जिले में स्थित है), (3) खाटू श्याम जी जो सीकर जिले में हैं. राजस्थान के सीकर जिले के गांव खाटू के नरेश खाटूश्यामजी को पूरी दुनिया में शीश के दानी के नाम से जाना जाता है. ये धाम विश्वविख्यात है.

खाटू श्याम जी
खाटू श्याम जी

हिन्दू धर्म के अनुसार, खाटू श्याम जी कलियुग में कृष्ण के अवतार हैं, जिन्होंने श्री कृष्ण से वरदान प्राप्त किया था कि वे कलयुग में उनके नाम श्याम से पूजे जाएंगे. श्री कृष्ण बर्बरीक के महान बलिदान से काफ़ी प्रसन्न हुए और वरदान दिया कि जैसे-जैसे कलियुग का अवतरण होगा, तुम श्याम के नाम से पूजे जाओगे. तुम्हारे भक्तों का केवल तुम्हारे नाम का सच्चे दिल से उच्चारण मात्र से ही उद्धार होगा। यदि वे तुम्हारी सच्चे मन और प्रेम-भाव से पूजा करेंगे तो उनकी सभी मनोकामना पूर्ण होगी और सभी कार्य सफ़ल होंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*