आपका ज़िला

दो सौ वर्षों से चली आ रही कुराइच महावीर स्थान में ‘अदरा के रोट’ की प्रथा

सासाराम (राजेश कुमार): हिंदी का असाढ़ महीना का अपना अलग महत्व है. कृषि प्रधान पुराने शहाबाद में खरीफ फसल (धान) की शुरुआत का यह महीना किसानों के लिए कई दृष्टि में पवित्र माना जाता है. […]