आपका ज़िला

साथ पले-बढे, साथ खेले-कूदे और साथ ही जली चार बच्चों की चिता…

सासाराम (राजेश कुमार) : सासाराम शहर के 80 घरों वाले गजराढ़ मोहल्ले के हर घर में मातमी सन्नाटा पसरा है. रोज कमाने—खाने वाले अधिकाँश घरों की माली हालत एक जैसी ही है. इसलिए बड़े–छोटे का भेद-भाव […]

Uncategorized

तरबूज तोड़ने के विवाद में 16 साल पहले हुई थी हत्या, अब आया फैसला, दो को उम्रकैद

सासाराम: कभी-कभी छोटी—सी घटना का अंत कितना भयावह होता है, इसका नमूना आज न्यायालय के एक फैसले में नजर आया. आज से 16 वर्ष पूर्व नासरीगंज थानाक्षेत्र के राजपुर में पड़ोसियों के बीच महज तरबूज […]

आपका ज़िला

पत्रकारों पर हमला लोकतंत्र का अपमान, वकीलों ने जताया रोष

सासाराम: पत्रकार लोकतंत्र के प्रहरी होते हैं. उन्हें किसी से भी सवाल पूछने का हक़ है. चाहे वो प्रधानमन्त्री ही क्यों ना हों. उनपर हमला करना कायरतापूर्ण कार्रवाई है. ये पत्रकारों पर हमला नहीं है, […]

आपका ज़िला

वकीलों के कर्म ही उनकी विरासत, पुण्यतिथि पर याद किये गए कामेश्वर सिंह

सासाराम, राजेश कुमार: वकीलों की विरासत उनके कर्म होते है. सब कुछ यही रह जाता है, याद बस उनके कर्म ही रह जाते है और वे विभूति कहलाते है. ये बातें गुरुवार को रोहतास जिला विधिज्ञ […]