DCLR पर घूसखोरी का मुकदमा, कोर्ट ने FIR दर्ज करने का दिया आदेश

सासाराम (राजेश कुमार) : सासाराम के DCLR उपेंद्र कुमार के विरुद्ध यहां के एक वकील ने घूस मांगने का मुकदमा किया है. वकील राकेश कुमार द्वारा न्यायालय में दायर किये गए इस्तगासा पर संज्ञान लेते हुए सासाराम के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी अली अहमद की अदालत ने उसे सासाराम मॉडल थानाध्यक्ष को भेजते हुए FIR दर्ज करने का आदेश दिया है.

मिली जानकारी के अनुसार सीजेएम की अदालत में दायर किये गए इस्तगासा सं 519/2017 मे घटना गत 24 जनवरी से लेकर 12 जून के बीच की बतायी गयी है. केस में भारतीय दंड विधान की धारा 166 (लोकसेवक द्वारा कानूनी प्रावधानों को अनसुना करना), 471 (फर्जी कागज़ का उपयोग), 467 ( वैल्युएबल सिक्यूरिटी के साथ फोरजरी) एवं 420 (धोखाधड़ी) लगाये गए है. केस में करगहर के रमाशंकर पासवान व नोखा के संजय कुमार चौरसिया घटना के गवाह बनाए गए है.

केस करने वाले राकेश कुमार ने बताया के  DCLR के न्यायालय में जमीन के विवाद से जुड़े विविध वाद सं 13/ 16-17 में ये वकील के तौर पर अपने मुवक्किल की पैरवी किया करते थे. बताते है कि उक्त मुकदमे में वे अपने मुवक्किल के तरफ से लिखित बहस देने के लिए गए तो DCLR ने उनसे उनके पक्ष में फैसला करने के लिए दो लाख रुपये घूस मांगा. धमकी दिए कि पैसे नहीं दिलाएंगे तो दूसरे पक्ष के फेवर में फैसला कर देंगे. बताया कि उनके साथ गए पक्षकारों को जाति सूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए उन्हें धमकाया.

इस संबंध में उनका पक्ष जानने के लिए DCLR के मोबाईल न 8544412382 पर कई बार रिंग करने के बावजूद उन्होंने रिसीव नहीं किया. कार्यालय में उनके उपलब्ध नहीं रहने से उनका पक्ष नहीं लिया जा सका.

इस संबंध में सासाराम मोडल थाना के एक अधिकारी ने बताया कि सीजेएम के न्यायालय से प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान करने के लिए ऐसा मामला आया है जिस आलोक में उचित कार्रवाई की जा रही है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*