कारगिल की शहादत याद करने जुटे बच्चे, बड़े और बुजुर्ग 

सासाराम (राजेश कुमार) : साल का 26 जुलाई सासाराम समाहरणालय परिसर में स्थित कारगिल विजय स्मृति उद्यान के लिए महोत्सव जैसा होता है. शेष 364 दिन शायद ही कोई उसकी सुधि लेता है. बुधवार की अहले सुबह नगर पार्षद के सफाई कर्मियों को लेकर शहर के पूर्व वार्ड पार्षद अतेंदर सिंह आकर छोटे से उद्यान की सफाई करा कर बीच में स्थापित कारगिल विजय स्मृति चिह्न को श्रद्धा अर्पण के योग्य कराये.
9 बजते ही उक्त स्थल पर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करने वाले आने लगे. स्कूली बच्चों की टोलियाँ ” जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी” वाले गीत गुनगुनाते हुए वहां आने वाले हर शख्स के दिल में राष्ट्र भक्ति की भावना भरते रहे.
अतेंदर सिंह ने बताया कि हर वर्ष की भाँति कारगिल शहीद स्मृति चिन्ह पर पुष्पांजलि अर्पित किये गये. सासाराम के आजाद युवा क्लब और नेहरू युवा केन्द्र के संयुक्त तत्वाधान मे इस कारगिल विजय स्मृति चिह्न का निर्माण कराया गया था. तब से आज तक प्रत्येक वर्ष यह कार्यक्रम होता है.
वैसे स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के अवसर पर भी वीर शहीदों को याद किया जाता है. उपस्थित लोगों में संकेत कु सिन्हा, दशरथ प्रसाद, सच्चिदानंद राय, धनंजय पाठक के अलावा अन्य कई और केंद्रीय विद्यालय, सासाराम के बच्चे को शामिल थे.
विदित हो कि 18 साल पहले 1999 में इसी दिन भारतीय सेना ने करगिल में फिर से तिरंगा लहराया था. साल 1999 में करगिल की पहाड़ियों पर पाकिस्तानी घुसपैठियों ने कब्जा जमा लिया था. जब सेना को पता चला तो सेना ने उनके खिलाफ ऑपरेशन विजय चलाया. 8 मई को शुरू हुआ यह ऑपरेशन 26 जुलाई को खत्म हुआ.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*