मुजफ्फरपुर कांड को ले बंद का रोहतास में दिखा आंशिक असर, सड़क यातायात प्रभावित

bihar band, sasaram closed, रोड जाम, बिहार हिन्दी समाचार, राजद, वामपंथी, मुजफ्फरपुर कांड, हीदी न्यूज़, हिन्दी समाचार

सासाराम, राजेश कुमार: मुजफ्फरपुर के अल्प आवास गृह की बच्चियों के साथ हुए कुकृत्य को लेकर बामपंथी दलों के गुरुवार को बिहार बंद के आह्वान का आज यहां आंशिक असर देखा गया. इस बंद को मुख्य रूप से राष्ट्रीय जनता दल का समर्थन मिला था. इसके अलावा कांग्रेस समेत कुछ अन्य दल और संगठनों ने भी अपना समर्थन दिया था.

आज सुबह ही जिला मुख्यालय सासाराम के पोस्ट ऑफिस चौराहे पर वाम दलों के कार्यकर्ता ने अपना झंडा बैनर लेकर चौक को जाम कर दिया. जिससे शहर की धमनी के रूप में जानी जाने वाली जीटी रोड पर कुछ घंटों के लिए यातायात ठप पड़ गया. जिले के अनुमंडल मुख्यालयों पर भी बिहार बंद सड़क जाम के रूप में दिखा, जिसका असर सामान्य यातायात पर पड़ा.

यह भी पढ़ेंसासाराम में ट्रेन से कटकर नवदंपति ने किया सुसाइड, सच खंगालने में जुटी पुलिस

सासाराम में जुटे कार्यकर्ताओं में ज्यादातर संख्या सीपीआई, सीपीएम, भाकपा माले की रही. जिनके नेता सड़क पर बैठ कर धरना दिए. बाद में राजद के जिलाध्यक्ष विजय कुमार मंडल के नेतृत्व में जुटे कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम को और भी प्रभावी बना दिया. जिसके चलते जीटी रोड पर वाहनों की लम्बी कतार लग गयी.

आपको बता दें कि धरना में सासाराम से राजद विधायक अशोक कुमार के अलावा राजद के संजय सिंह, महिला नेत्री ज्योति रंजना प्रमुख रूप से शामिल दिखे. जबकि वाम पंथी दलों के रामभरत सिंह, सत्तार अंसारी, अयोध्या राम, डॉ राकेश श्रीवास्तव सहित अन्य कई थे. धरना को संबोधित करते हुए राजद जिलाध्यक्ष ने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह की लड़कियों के साथ हुए कुकृत्य ने सरकार के चेहरे पर कालिख पोत दिया है.

अब सरकार उसकी लीपा-पोती कर गुनाहगारों को बचाने के प्रयास में लगी है. उन्होंने मांग की कि सरकार सीबीआई जांच को मोनिटर करने के लिए हाई कोर्ट से अनुरोध करे. जिले के अनुमंडल मुख्यालय डेहरी और विक्रमगंज के अलावे प्रखंड मुख्यालय काराकाट, नासरीगंज, राजपुर सहित अन्य जगहों से भी सड़क जाम से यातायात प्रभावित रहने की सूचना मिली है.

देखें विडियो:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*