रोहतास थाने में रहस्यमय तरीके से हुई पुलिस कर्मियों की मौत, थाने में मची अफरा-तफरी

rohtas

सासाराम, राजेश कुमार : रोहतास जिले के काराकाट थाने में पदस्थापित एक सहायक अवर निरीक्षक (जमादार) और साक्षर सिपाही (मुंशी) का एक एक कर हुई मौत की बात गुरुवार को जैसे ही हवा में आई कि तमाम पुलिस महकमा सकते में पड़ गया. थाने से लिए एसपी के फोन या तो बंद मिलने लगे या फिर नो रिप्लाई मिलने लगे. रहस्यमय परिस्थितियों में हुई दो पुलिस कर्मियों की मौत को ले पुलिस महकमे से अलग-अलग कारण बताये जाने से लोगों की जिज्ञासा और बढ़ने लगी. हाला कि शाहाबाद के डीआईजी मो रहमान ने कहा कि डॉक्टर ने इसे कार्डियक अरेस्ट को कारण बताया है जबकि थाने के अधिकारी उन्हें दमा का रोगी.

 

बहरहाल जितने मुह, उतनी बातें. सूचना पर आये मृतक पुलिस कर्मियों के परिजनों को भी पुलिस ने लोगों, खास कर मीडिया से दूर रखने का पूरा इंतजाम कर रखा है. उनके शवों का पोस्ट मार्टम कराने को लेकर भी पुलिस महकमे में उहापोह की स्थिति बनी हुयी है. दोपहर बाद उनके शवों को डेहरी स्थित पुलिस लाइन में ले जाकर मृत्युपरांत निभायी जाने वाली औपचारिकता निभाने की तैयारी चल रही है.

 

rohtas

 

मिली जानकारी के अनुसार हाल ही में प्रोन्नति पाकर सअनि बने जवाहर लाल प्रसाद और साक्षर आरक्षी श्याम किशोर सिंह कल तीसरे पहर थाने में ड्यूटी पर थे. तभी उनमे से मुंशी श्याम किशोर की तबियत बिगड़ी. उन्हें काराकाट स्थित प्राथमिक स्वास्थ केंद्र ले जाया गया. स्थिति गंभीर देख डॉक्टर ने उन्हें बाहर रेफेर कर दिया.

आनन फानन में उसे जमुहार स्थित नारायण मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया. जहा जाते ही उसे डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया. तभी जमादार जवाहर लाल की तबियत खराब हुयी. और थोड़ी ही देर में उनकी भी मौत हो गयी. काराकाट के लोगों की माने तो दोनों पुलिसकर्मी अक्सर ड्यूटी में भी शराब के नशे में देखे जाते थे. समझा जाता है कि कल भी उन्होंने वही किया होगा. तब है कि कल की शराब जहरीली होगी. वैसे इन सब बातों की सच्चाई इमानदारी से किये गए पोस्ट मार्टम रिपोर्ट से ही सामने आ सकती है.

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*