खुले में शौच करने वालों की शामत, शिक्षक समेत 8 गिरफ्तार, एक-एक हजार जुर्माना

sasaram

सासाराम, राजेश कुमार : खुले में शौच से मुक्त होने की ओर अग्रसर रोहतास जिले में सडकों को गन्दा करने वालों की शामत आ गयी है. प्रखंड-थाना स्तर के अधिकारियों से लेकर जिला मुख्यालय के अधिकारी तक सुबह-शाम औचक निरीक्षण कर रहे है. इसके लिए जिलास्तर पर स्पेशल स्क्वायड बनाये गए है. इसी के तहत सोमवार को अहले सुबह सासाराम से स्वच्छता अधिकारी जेपी सिंह के नेतृत्व में निकले स्पेशल स्क्वायड ने जिले की सीमावर्ती नासरीगंज प्रखंड के विभिन्न हिस्सों से सड़कों पर बैठ कर शौच करते आठ लोगों को गिरफ्तार किया. जेल भेजने की नौबत बनने की सूरत में लोगों ने एक-एक हजार जुर्माना भुगत कर मुक्ति पाया.

नासरीगंज के सीओ रमन कुमार ने बताया कि उनके यहां अधिकांश पंचायतें खुले में शौच से मुक्त कर दी गयी है. उन पंचायतों में स्वच्छता बरकरार रखने के लिए समितियां बनायी गयी है. कुछ लोग समितियों की गंभीरता से नहीं लेते हुए खुले में शौच पर अमादा रहते है, उनके लिए जेल या जुर्माने के प्रावधानो को अंजाम दिया जाता है. आज औचक निरीक्षण पर निकले जिला मुख्यालय की टीम ने भरकोल से लेकर इटिम्हा के बीच सड़क पर शौच करते 8 लोगों को पकड़ा. दुःख की बात तो यह है कि उनमे एक स्कूल का शिक्षक भी शामिल है. उनपर एक एक हजार के जुर्माने लगाये गए. जिसे अदा करने पर मुक्त कर दिया गया.

sasaram

पकडे गए लोगों में नासरीगंज के मो अस्फाक के पुत्र बदृदीन, मो असलम का पुत्र मो तस्लीम, मो अली रजा का पुत्र मो मुस्ताक, मो यासीम अंसारी का पुत्र मो सोएब आलम व शकूर मिया का पुत्र मुमताज के अलावे इटिम्हा गांव के जगत भगत के पुत्र अवधेश पाल, सबदला गांव के सरदारी चौधरी का पुत्र उमेश चौधरी व भरकोल के रामदत राम का शिक्षक पुत्र रामकुमार शामिल है. रामकुमार प्रखंड के ही पिप्पडी मध्य विद्यालय में शिक्षक है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*