इंटर के खराब रिजल्ट को लेकर छात्रों ने किया सड़क जाम

सासाराम: इंटरमीडिएट के रिजल्ट ने नयी पीढ़ी को एक तरह से आइना दिखा दिया है. अभी तो मैट्रिक का रिजल्ट आना बाकी ही है. फिर देखिएगा कि कैसा कोहराम मचता है. जब पढ़ोगे ही नहीं, तो परीक्षा कैसे पास करोगे? जो सही में पढ़ने वाले थे, वे पास हो गए हैं. बुधवार को सासाराम स्थित पोस्ट ऑफिस चौराहे को जाम कर नारेबाजी करते छात्रों के हुजूम को देख एक पान दुकानदार ने यह कटाक्ष किया था. सासाराम शहर की रग-रग से वाकिफ वह पान दुकानदार कहने लगा, सड़क जाम किये लोगो में कितने हैं जो पढ़ने-लिखने वाले लगते हैं. इसमें शायद ही कोई इंटर एग्जाम का भुक्तभोगी हो.
पता चला कि इस शहर में कोचिंग का हब माने जाने वाले गौरक्षिनी मुहल्ला से कोचिंग क्लास समाप्त होने पर एकत्रित छात्रों ने अचानक इंटर के घोषित रिजल्ट को लेकर सड़क जाम करने का निर्णय ले लिया. चौराहे पर चार दर्जन की तादात में  जुटे छात्रों ने महज आधे घंटे में सड़क जाम को अंजाम दे दिया.
सरकार विरोधी नारे लगा रहे छात्रों ने एक तरह से राज्य की परीक्षाओं में नकल की छूट की मांग कर रहे थे. जाम के दौरान छात्रों ने वहां से गुजरने वाले वाहनों के साथ तोड़-फोड़ भी की. कुछ वाहन चालकों को खरी-खोटी भी सुनाई. मौके पर पहुंची टाउन थाने की पुलिस इस दौरान तमाशबीन बनी रही. गला फाड़-फाड़कर चिल्ला रहे छात्रों का जब कंठ सूखने लगा तो वे धीरे-धीरे वहां से खिसकने लगे.
इस संबंध में एक वरिष्ठ प्रोफ़ेसर ने बताया कि स्कूलों की पढ़ाई से नाता तोड़ कोचिंग के नाम पर मौज—मस्ती करने वाले छात्रों को अगले साल होने वाले एग्जाम के नतीजों की अभी से डर सता रहा है. इसीलिए वे नकल की छूट के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं. सरकार को शिक्षा और परीक्षा नीति में बृहद बदलाव करने की जरुरत बन आई है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*