किसानों की उपेक्षा से बढ़ रही महंगाई: प्रमुख

सासाराम: विगत दस वर्षो में किसान के हितों की उपेक्षा का दौर जारी है, किसानों को मिलने वाली ट्रैक्टर सब्सिडी हो या किसान क्रेडिट का लाभ, सभी वैसे तथाकथित किसान इसका लाभ उठा रहे हैं जो खुद का खेत नहीं पहचानते.

कृषि के नाम पर ट्रैक्टर सिर्फ सब्सिडी के लिए ही निकाला जाता है और उसका व्यावसायिक उपयोग हो रहा है. उक्त बातें स्थानीय बाजार समिति प्रांगण में कृषि यंत्र मेला का उद्घाटन करते हुए प्रखंड प्रमुख राम कुमारी देवी ने कही.

किसान क्रेडिट के नाम पर बैंक के रूपये का खेती में कम प्रयोग और ब्याज माफिया टाईप ग्रामीण गांव में सूदखोरी का धंधा चला रहे हैं. मूल रूप से अपने शरीर को गर्मी बरसात और जाड़ा में गलाने वाले किसान सरकारी लाभ से वंचित ही रह जाते हैं.

जागरूकता के अभाव में गरीब किसानों को सरकारी योजनाओं का तो लाभ ही नहीं मिलता. सही किसानों को गांव स्तर पर चिन्हित कर लाभ पहुंचाने की नीति बनानी होगी, नहीं तो धीरे-धीरे किसान खेती की ओर से पूरी तरह उदासीन हो जायेंगे.

जिसका नतीजा होगा कि महंगाई और तेजी से बढती जायेगी. अगर समय रहते इसे ध्यान में नहीं रखा गया तो बाजार से कई तरह की खाने-पीने की वस्तुएं गायब हो जायेंगी. जैसे कुर्थी, पेहटा और तिल जैसे साधारण अन्न किसानों के घरों में नहीं हैं.

मेले में जिले के लगभग सभी प्रखंडों से भारी संख्या में किसान उपस्थित होकर खरीदारी किये. इस मौके पर डीएओ रोहतास, बीईओ सासाराम, जिला परिषद सदस्य नेहा नटराज, उप प्रमुख राम सागर पडित, अजय राम, आजाद पासवान, किरण देवी, कामेश्वर राम, महेश ठाकुर, मुखिया राजगृही चौधरी, लक्ष्मण प्रसाद सहित कई लोग उपस्थित थे.

ssm

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*