​तपिश के बावजूद 60 हजार भक्तों ने किए विद्यापति धाम में दर्शन-पूजन

समस्तीपुर/विद्यापतिनगर(सोनी पद्माकर) : भक्त और भगवान की पावन नगरी माना जाने वाला विद्यापतिधाम आस्था का केंद्र है. सावन मास के दूसरे सोमवार को आस्था का जनसैलाब उमड़ पड़ा. पूरा विद्यापतिधाम का मंदिर परिसर बोल बम की गूंज से शिवमय हो गया है. बताया गया कि रविवार की रात से ही श्रद्धालुओं का आवागमन शुरू हो गया था. भक्त और श्रद्धालुओं ने निकटवर्ती सिमरिया घाट, झमटिया घाट, चमथा घाट आदि घाटों से गंगा का पवित्र जल भर कर उगना महादेव पर जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना की.

रंग बिरंगे परिधानों में सजे कांवरियों का जत्था भोर से ही मंदिर परिसर में पहुंचने लगा था. देर शाम तक जलाभिषेक चलता रहा. इस दौरान बोल बम और हर हर महादेव के जयघोष से पूरा वातावरण भक्तिमय बना रहा. सूर्य की तपिश भी आस्थावान भक्तों का हौसला नहीं डिगा सकी. करीब 60 हजार से अधिक श्रद्धालु भक्तों ने जलाभिषेक के साथ पूजा-पाठ कर सुख शांति के लिए मन्नतें मांगी.

अत्यधिक भीड़ को देखते हुए प्रशासन की व्यवस्था चाक चौबंद थी. सु​गठित व्यवस्था से श्रद्धालुओं को जलार्पण में सुविधा हुई. श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई दिक्कतें न हो, इसलिए थानाध्यक्ष मुकेश कुमार सभी चेकप्वाइंट पर मॉनीटरिंग करते दिखे. इसके अलावा भारी संख्या में मंदिर परिसर में पुलिस बल को तैनात किया गया है. विद्यापति धाम मंदिर के मुख्य पंडा गणेश गिरि कवि व अमरनाथ गिरि के नेतृत्व में पंडा समाज देर शाम भोले बाबा का विशेष श्रृंगार करेगा.

आस्थावान भक्तों ने भांग, धतूरा, बेलपत्र, मधु, मखाना, फूल, फल, दूध, दही, घी, मक्खन आदि अर्पित कर उगना महादेव की विशेष श्रृंगार पूजा की है. साथ ही शाम तक व्रती महिलाओं और युवतियों का जत्था मंदिर में पूजा—अर्चना करने के लिए अभी से तैयारी में जुट गया है.

मौके पर गोस्वामी समाज के रत्न शंकर भारद्वाज, दीपक गिरि, नवल किशोर गिरि, सतीश गिरि, संजय बाबा, अंशु गिरि आदि मौजूद रहे. वहीं दूसरी ओर मंदिर परिसर में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे से आने-जाने वाले संदिग्ध लोगों की निगरानी की जा रही है.