समस्तीपुर: आचार्य राज नारायण दास की शोभा यात्रा में कबीरपंथियों से पट गया शहर

समस्तीपुर/रोसड़ा(राजू गुप्ता): जिले के रोसड़ा गद्दी के महंत आचार्य राज नारायण दास की आकस्मिक निधन हो गया है. इसकी सूचना पर कबीरपंथियों से रोसड़ा शहर पट गया. अंतिम दर्शन को लेकर दूर-दूर के क्षेत्रों से कबीर मत के अनुयायी रोसड़ा पहुंचे हुए थे. अत्यधिक भीड़ को कंट्रोल करने में पुलिस को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा.
शनिवार की देर रात्रि में दिवंगत महंथ की शोभा यात्रा शहर में निकाली गई. जिसमें करीब 20 हजार कबीरपंथी श्रद्धालु शामिल हुए थे. शोभा यात्रा के पश्चात रात के करीब 1 बजे दिवंगत महंथ आचार्य राम नारायण दास साहेब की नम आंखों से श्रद्धालुओं ने उनकी समाधि दी. बता दें कि दिवंगत महंथ आचार्य राम नारायण दास साहेब भारत के प्रसिद्ध संत कबीर वचनवंशीय मूल आचार्य गद्दी महादेव मठ रोसड़ा गद्दी के 11वें महंथ के रूप में पद पर 1988 से आसीन थे. शुक्रवार की देर रात सड़क दुर्घटना में इनकी दर्दनाक मौत हो गयी. इनकी मौत से कबीरपंथी श्रद्धालुओं को काफी सदमा लगा है.
घटना की जानकारी होते ही शनिवार की सुबह से ही रोसड़ा शहर मठाधीश एवं कबीरपंथी श्रद्धालुओं से भरने लगा. शोभा यात्रा व समाधि को लेकर बिहार के बाहर से भी हजारों कबीरपंथी पहुंचे थे.
शोभा यात्रा एवं समाधि कार्यक्रम में कबीरपंथी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष महात्मा भुटकुन साहेब, बन्नी खगड़िया मठ के महंथ रघुनन्दन गोश्वामी, वैशाली जिले के मथना मिलिक के महंत शशि भूषण दास, समस्तीपुर फुहिया के महंथ धर्मदास साहेब, ताजपुर सतसैना के डॉ. आलम साहेब, मधुबनी हथियाही के महंथ हरिश्चंद्र साहेब, कबीर मठ लक्ष्मीपुर रोसड़ा के महंथ दीपक नारायण दास, डॉ. विद्यानन्द शास्त्री समेत कई जगह के मठाधीश शामिल हुए थे.