‘किसानों का दर्द समझे संवेदनहीन नीतीश सरकार, ओलावृष्टि ने बर्बाद कर दी पूरी फसल’

समस्तीपुर (राजू गुप्ता) : राजद के प्रदेश प्रवक्ता-सह-विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने कहा है कि प्रदेश के कई जिलों में आयी आंधी-तूफान एवं ओलावृष्टि ने किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया. काल बैसाखी की चपेट में आकर 11 लोगों की जानें चली गईं. खेतों में लगी फसलों को भी भारी नुकसान पहुंचा है. कल तेज हवा के साथ बारिश हुई. कई जगहों पर ओले भी पड़े हैं. आम, लीची एवं गेहूं की हजारों एकड़ में खड़ी फसलें बर्बाद हो गई हैं.

गेहूं की तैयार फसल एवं आम को नुकसान पहुंचा

विधायक ने कहा उत्तर बिहार में बीते सात दिनों में यह तीसरी बारिश थी. सबसे ज्यादा असर मुजफ्फरपुर और समस्तीपुर जिले में हुआ है. पारू एवं सरैया प्रखंड में फसलों पर गिरे ओले चादर की तरह दिख रहे थे. समस्तीपुर के कई प्रखंडों में ओलावृष्टि एवं बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया. गेहूं की तैयार फसल एवं आम को नुकसान पहुंचा.

सरकार किसानों के कर्ज माफ की घोषणा करे

शाहीन ने राज्य शासन से मांग की है कि किसानों को हो रहे नुकसान को देखते हुए तत्काल कैबिनेट की बैठक बुलाकर सरकार राहत देने व किसानों के कर्ज माफ की घोषणा करे. साथ ही आला अधिकारियों को निर्देश दे कि वे स्वयं यह सुनिश्चित करें कि नुकसान का आंकलन खेत से खेत के आधार पर किया जाए ताकि वास्तविक नुकसान का आकलन हो सके.

तेज आंधी व बारिश ने किसानों के अरमान पर कुठाराघात किया

विधायक शाहीन ने कहा तेज आंधी व बारिश ने किसानों के अरमान पर कुठाराघात कर गया है. आंधी में गिरे फसल को देख कर किसान चिंता में डूबे हैं कि कैसे महाजन का कर्ज चुकता करेंगे और कैसे परिवार का गुजारा होगा . ऐसे में इस प्राकृतिक आपदा ने किसानों के हौसला और हिम्मत को पूरी तरह से पस्त हो जाना स्वाभाविक है.

राजद प्रवक्ता ने प्रदेश में ओलावृष्टि, आंधी-तूफान से किसानों को हुए नुकसान पर सरकार से तत्काल मुआवजा देने की मांग की है. उन्होंने मांग की है कि कैबिनेट बैठक कर खेतों में नुकसान का आंकलन करवाए और तत्काल किसानों को मुआवजा दिया जाए. अन्यथा राजद बिहार सरकार के खिलाफ सड़क से सदन तक संघर्ष करेगी.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*