समस्तीपुर : रामनगर के मदरसा में आयोजित हुआ क्विज प्रतियोगिता

समस्तीपुर(राजू गुप्ता): जिले के वारिसनगर प्रखंड अंतर्गत सारी पंचायत के मखदूमनगर रामनगर स्थित जामिया मखदुमिया तेगिया मोईनुलउलूम मदरसा में रविवार को इस्लामिक क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. इस अवसर पर सभी विजेताओं को पुरस्कृत किया गया. मुख्य अतिथि पद से कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समस्तीपुर के विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिता के आयोजन से बच्चों के प्रतिभा में निखार आता है. प्रतिस्पर्धा में भाग लेने से उनके अंदर की झिझक व भय भी दूर होता है.

उन्होंने मदरसों की शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डाला और इस तरह के कार्यक्रम आगे भी करने की बात मदरसा के डाइरेक्टर को कही.
कार्यक्रम की अध्यक्षता मो0 मोतिउर रहमान अशरफी ने की. मौके पर अवधेश कुमार, मास्टर मो0 कमालुद्दीन, डॉ0 खुर्शीद खेर, मो0 शहाबुद्दीन, अमर कुमार, डॉ0 सगीर अली अंजुम, जहाँगीर आलम, मो0 नईमुद्दीन आज़ाद, मो0 हुसैन आज़ाद, मो0 अफ़ज़ल, मो0 तौहीद अंसारी, आनन्द कुमार, मो0 अतीकुर्रहमान, मौलाना मो0 तुफैल अहमद के अलावा सैकड़ों लोग मौजूद थे.

सरस्वती शिशु मंदिर में मानव जीवन मे योग के महत्व पर कार्यशाला का आयोजन
समस्तीपुर/ रोसड़ा(राजू गुप्ता): स्थानीय केशव नगर फुलवरिया में स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में आयोजित भारत सरकार संस्कृति मंत्रालय के तत्वाधान में योग एवं स्वस्थ मानव जीवन पर आधारित कार्यशाला का आयोजन किया गया. इस कार्यशाला में 17 विद्यालय के 650 बच्चे शामिल हुए. इस कार्यशाला का उद्घाटन डॉ. राज भूषण चौधरी ने दीप प्रज्वलन कर किया. अतिथि के रुप में डॉ परमानंद मिश्र, विभाग निरीक्षक अखिलेश मिश्र एवं विषय प्रमुख के रूप में नंदकिशोर सिंह, डॉ दीपांशु भास्कर बीएड कॉलेज मुजफ्फरपुर, भरत जी प्रधानाचार्य बरहेता, रामसागर सहनी, आगत अतिथि का परिचय प्रधानाचार्य मनोज कुमार सिंह, मंच संचालन अरुण कुमार मंडल के द्वारा किया गया.

 
अपने उद्घाटन भाषण में डॉ. राज भूषण चौधरी ने योग के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि योग हमें हर प्रकार की बीमारी से रक्षा करता है. ओम के उच्चारण से रोगियों में काफी लाभ देखने को मिला है. नंदकिशोर सिंह ने पतंजलि अष्टांग योग के बारे में विस्तार से बताते हुए योग का प्रशिक्षण दिया. दीपांशु भास्कर ने बताया कि स्वास्थ्य का अभिप्राय है शरीर मन एवं बुद्धि से स्वस्थय हो. योग हमें मृत्यु से जीतना सिखाता है.

विभाग निरीक्षक अखिलेश मिश्र ने बताया कि योग के माध्यम से ही हम अपनी संस्कृति और शरीर को स्वस्थय रख सकते हैं. डॉ. परमानन्द मिश्र मिश्रा ने कहा कि जीवन का अंतिम लक्ष्य लक्ष्य की प्राप्ति का मार्ग योग है. योग के विस्मरण से भीग, फिर रोग होता है. इस मौके पर विद्यालय के सचिव महादेव ठाकुर, उप सचिव अर्धेन्दू कुमार शेखर, कोषाध्यक्ष संजय कुमार पप्पू , शैलेंद्र मिश्र, अशोक कुमार सिंह, सुमन कुमार, रमेश नायक, संजय कुमार मिश्रा ने स्कूली छात्र छात्राओं को संबोधित किया.

समापन कार्यक्रम में बटहा के गौतम, राजकुमार , रोसड़ा से प्रियांशु, रक्षा बलहा से आशुतोष कुमार, पटोरी से मदन मोहन, बिथान से मोहम्मद जीशान ने अपना अपना अनुभव सुनाया.