यात्रा के दौरान बीमार पड़ने वालों के लिए अगले स्टेशन पर तैनात रहेंगे चिकित्सक

फाइल फोटो

समस्तीपुर : ट्रेन में यात्रा करने वाले रेल यात्रियों की सुविधा के लिये रेलवे की ओर से हर संभव प्रयास किया जा रहा है. यात्रियों के साथ तालमेल बैठाकर उनकी यात्रा में कोई व्यवधान उत्पन्न न हो इसके लिये रेलवे ने पुनः एक नया सर्कुलर जारी किया है. इसके तहत अब चलती ट्रेन में कोई यात्री अगर गंभीर रूप से बीमार हो जाये तो ट्रेन में चलने वाले टीटीई को इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को देनी पड़ेगी. ताकि अगले स्टॉपेज पर रेल विभाग के चिकित्सक अपनी टीम के साथ इस बीमार यात्री का ट्रेन में ही ईलाज कर यात्री की यात्रा को निरापद बना सकें.

अक्सर यात्रा के दौरन ट्रेन में यात्री बीमार पड़े जाते है. उस समय प्राथमिक उपचार नहीं होने पर उनकी हालत बिगड़ जाती है. कई बात तो यात्री की मौत तक हो जाती है. रेल यात्री के अचानक बीमार पड़ने पर आपात चिकित्सक व्यवस्था के लिये रेलवे अब टीटीई को विशेष कदम उठाना होगा. हालात गंभीर हुई तो अगले स्टेशन पर यात्री के समुचित इलाज की व्यवस्था की जायेगी.

बताया गया है कि इसके लिये रेलवे बोर्ड ने सभी जोन को 27 मार्च 2018 को नए सरकुलर के तहत पत्र जारी किया है. ट्रेन में टिकट जांच की ड्यूटी के दौरान ट्रेन अधीक्षक, ट्रेन कंडक्टर और ट्रेन टिकट एक्जामिनर की बीमार मरीज पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है. टीटीई को बीमार यात्रियों के इलाज के लिये आने वाले स्टेशन के प्रबंधक को इसकी सूचना देनी होगी. इसके लिये टीटीई को सीयूजी नंबर दिया जा रहा है. जिससे वे आसानी से स्टेशन प्रबंधक से संपर्क कर सकेंगें.