दारोगा भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामला : समस्तीपुर जिले में जांच को पहुँची है EOU की टीम

adulterated things, selling, कोर्ट, सजा, samastipur news, hindi samachar, बिहार हिंदी समाचार

समस्तीपुर (राजू गुप्ता): बिहार पुलिस दारोगा भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले को लेकर आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने जिले में दस्तक दी है. टीम के द्वारा की गयी छापेमारी से बिहार पुलिस दारोगा भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले का तार समस्तीपुर से भी जुड़े होने की बात उजागर हुई है.

पुलिस निरीक्षक रंजीत कुमार के नेतृत्व में आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने सोमवार की शाम शहर के गणेश चौक के समीप एक मोबाइल दुकान में छापेमारी की. जिसके पश्चात रोसड़ा अनुमंडल क्षेत्र के विभूतिपुर थाना क्षेत्र में भी एक व्यक्ति को आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने सरगर्मी से तलाश की. आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने अपनी कार्रवाई को गुप्त रखा है.

आंदोलनकारियों के समर्थन में उतरे सीपीएम कार्यकर्ता, दिया चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

उड़ती खबर है कि पेपर लीक मामले में समस्तीपुर शहर के मोबाइल दुकानदार के द्वारा अपने किसी रिश्तेदार के लिये शिक्षा माफिया से पेपर खरीदा गया है. चर्चा यह भी है कि नालंदा से गिरफ्तार राजीव चौधरी की निशानदेही पर टीम ने उक्त कार्रवाई की है.

छापेमारी में गोपनीयता का आलम यह था कि टीम में शामिल सभी सदस्य स्कार्पियो पर सवार होकर सादे लिवास में आये और छापेमारी को अंजाम देकर आगे निकल गये. छापेमारी में क्या बरामद हुआ इसका खुलासा नहीं हुआ है. बता दें कि शहर में पहले से भी शिक्षा माफियाओं द्वारा मोटी रकम लेकर प्रतियोगिता परीक्षाओं के पेपर लीक कराये जाते रहे है. फिलहाल उक्त छापेमारी से चर्चाओं का बाजार काफी गरम है.

आंदोलनकारियों के समर्थन में उतरे सीपीएम कार्यकर्ता, दिया चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी