समस्तीपुर में लाखों के कपड़े की चोरी कर भाग रहा शातिर चढ़ा पुलिस के हत्थे

समस्तीपुर/रोसड़ा(राजू गुप्ता): रोसड़ा पुलिस ने सोमवार की सुबह एक शातिर चोर को रेडीमेड कपड़े की चोरी कर भागते हुए रंगे हाथ पकड़ने में सफलता पाई है. रोसड़ा शहर के पुराने अस्पताल के निकट मोहित स्टोर नाम के रेडीमेड कपड़े के थोक व्यवसाय के प्रतिष्ठान का ताला तोड़ करीब 1 लाख से अधिक मूल्य के कपड़े चोरी कर भागने का प्रयास कर रहे थे. संयोगवश गस्ती के दौरान थाने के पुलिस पदाधिकारी ने टेंपो पर लोड कर रहे कपड़े के गट्ठर को देख शंका के आधार पर युवक से पूछताछ करने लगी.

इसी क्रम में युवक तेजी से दौड़ कर भागने लगा. युवक को भागते देख पुलिस ने खदेड़ कर उसे पकड़ लिया. नाम पता पूछने पर कभी भीरहा तो कभी विभूतिपुर के बेलसंडी तारा गांव निवासी विनोद साहनी बता रहा था. परंतु तहकीकात के बाद धराया युवक सुपौल जिले का रहने वाला बताया गया. हालांकि पुलिस इसके असली नाम पता का सत्यापन कर रही है.


धराये युवक ने बताया कि उक्त कपड़े के थोक विक्रेता के गोदाम से कपड़े की चोरी कर वह भाग रहा था. उसने बगल के प्रवीण इंटरप्राइजेज नामक प्रतिष्ठान के मेन गेट का ताला तोड़कर अंदर ही अंदर कपड़े के गोदाम में पहुंच कर ताला तोड़ कपड़े की चोरी की थी. साथ ही उसने बताया कि कपड़े के गट्ठर को ले जाने के लिए उसने स्टेशन चौक के निकट से एक टेंपो को ₹130 में भाड़े पर किया था.  जिसे रोसड़ा के बस स्टैंड पहुंचाने के लिए कहा गया था.

समस्तीपुर : छात्र संघ चुनाव के मद्देनजर चुनाव संचालन समिति का गठन, विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन

पुलिस युवक को गिरफ्तार कर थाने ले आई. साथ ही टेंपो समेत कपड़े के गठ्ठर को भी जब्त कर लिया. उक्त जानकारी थानाध्यक्ष बी. एन. मेहता ने थाना परिसर में प्रेस वार्ता के दौरान दी. उन्होंने बताया कि धराया चोर शातिर है. इसके मोबाइल का सीडीआर भी निकाला गया है. जिससे अन्य चोरी के मामले का भी खुलासा होने की संभावना है. इस संबंध में कपड़ा व्यवसायी मोहन अग्रवाल के आवेदन पर थाने में FIR दर्ज की गई है.

बता दे कि विगत नवंबर माह में भी उक्त कपड़े व्यवसायी के गोदाम से लाखों रुपये मूल्य के कपड़ो की चोरी कर ली गयी थी.जिसकी बरामदगी एवं चोर गिरोह का पता अब तक पुलिस को नहीं चल पायी है. थानाध्यक्ष ने बताया कि शातिर चोर को रंगे हाथ पकड़ने वाले गश्ती पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिसबल को पुरुस्कृत करने के लिए एसपी के पास पत्राचार किया जायेगा.