अगले चार दिनों में उत्तर बिहार के कई जिलों में आंधी-तूफान के साथ बूंदाबांदी की संभावना

प्रतीकात्मक फोटो

समस्तीपुर: जिले के पूसा स्थित डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक आगामी 8 अप्रैल तक उत्तर बिहार के कई जिलों में तेज हवा के साथ-साथ बूंदाबांदी हो सकती है. इस दौरान 7 से 9 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से पुरवा हवा चलने की भी संभावना जतायी गयी है. इस कारण वायुमंडल में नमी की मात्रा बढेगी. साथ ही आसमान में गरज वाले बादल छाये रहेंगे जो तेज हवा के साथ आंधी व पानी में सहायक की भूमिका निभायेगें.

जानाकारी के मुताबिक जिन जिलों में आंधी व वर्षा की संभावना है उनमें पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, सीतामढी, मधुबनी, दरभंगा, समस्तीपुर एवं बेगूसराय आदि जिले शामिल है. इस दौरान कृषि वैज्ञानिक ने किसानों के लिये कुछ सुझाव भी दिये है. जिसमें तैयार गेहूं की फसल में काफी सावधानी बरतने गरमा मूंग तथा उड़द की बुआई 10 अपैल से पहले करने का मुख्य सुझाव दिया है.

हरियाणा से आयी टीम ने स्वच्छता के प्रति पंचायत वासियों को किया जागरूक

समस्तीपुर (राजेश कुमार झा) : बिहार राज्य में स्वच्छता के प्रति जागरुकता फैलाने को लेकर हरियाणा से आई टीम के सदस्यों ने आज बुधवार को जिले के उजियारपुर प्रखंड अंतर्गत परोरिया पंचायत पहुचकर लोगों को जागरूक करने का कार्य शुरू कर दिया है. टीम के सदस्यों द्वारा पंचायत के लोगों से मिलकर स्वछता से होने वाले फायदे के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी. इसके साथ ही खुले में शौच जाने से होने वाली हानियों को भी दर्शाते हुए शौचालय निर्माण कराने की बात कही.

टीम के सदस्यों ने खासकर घर की महिलाओं से स्वच्छता बनाकर रखने की अपील करते हुए कहा कि आज के समय में लोगों को होने वाली सभी बिमारियों का मुख्य कारण घरों में गंदगी रहना है. जरूरत है आप सभी स्वच्छता के प्रति जागरूक हों और खुले में शौच नहीं जाने का संकल्प लें.

समस्तीपुर : तीन तलाक बिल के विरोध में सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं ने निकाला विशाल विरोध मार्च

टीम में आए लोग यह भी बतलाया की खुला शौच नहीं छोड़ें. जब तक आपके घर में शौचालय का निर्माण नहीं होता है तब तक आप वैकल्पिक व्यवस्था कर उस पर मिट्टी डाल दें जिससे कि मक्खी न बैठ पाए. इस मौके पर स्थानीय मुखिया मनोज कुमार साह उर्फ श्री राम साह, स्थानीय वार्ड सदस्य, सरपंच, आंगनबाड़ी सेविका, स्थानीय पंच दिलीप कुमार झा, सैकड़ो स्थानीय ग्रामीण उपस्थित थे.

दलसिंहसराय व्यवहार न्यायालय में आज भी अधिवक्ताओं ने किया कार्य का बहिष्कार